Chauri-Chaura: चौरी-चौरा कांड पर अनामिका अंबर की यह कविता आपके रोंगटे खड़ा कर देगी, सुनिए PM मोदी और CM योगी के बारे में क्या कहा…

Chauri-Chaura: कवियित्री अनामिका जैन अंबर (Anamika Jain Amber) ने भी चौरी-चौरा (Chauri-Chaura) के शहीदों के लिए एक कविता का पाठ किया जिसको सुनकर आपके रोंगटे खड़े हो जाएंगे। इस कविता के माध्यम से अनामिका ने जमकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी () और सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) की भी तारीफ की है।

Avatar Written by: February 10, 2021 6:57 pm
Anamika Jain Amber

नई दिल्ली। 2019 का लोकसभा वाला चुनावी समर तो सबको याद होगा। उस दौरान यूपी की एक लोकसभा सीट काफी चर्चा में रही थी। वह थी मेरठ हापुड़ लोकसभा सीट। इस सीट से हिंदी की प्रख्यात कवियित्री अनामिक जैन अंबर को प्रगतिशाली समाजवादी पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ना था। लेकिन वह इस सीट से नामांकन के ठीक पहले ही चुनाव लड़ने से मुकर गईं। इस वाकये का जिक्र मैं इसलिए कर रहा हूं क्योंकि यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ पूरे प्रदेश में अपनी सरकार के तत्वावधान में चौरी-चौरा कांड के शहीदों को लेकर कार्यक्रम का आयोजन करा रहे हैं। इस कार्यक्रम की गूंज पूरी दुनिया में सुनने को मिल रही है। कार्यक्रम का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गोरखपुर जिले स्थित चौरी-चौरा से किया था। वह इस कार्यक्रम के उद्घाटन समारोह में वर्चुअल माध्यम से जुड़े थे। अब पूरे प्रदेश में इसी क्रम में कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है।

Anamika Jain Amber

इसी के तहत कार्यक्रम को लेकर कवियित्री अनामिका जैन अंबर ने भी चौरी-चौरा के शहीदों के लिए एक कविता का पाठ किया जिसको सुनकर आपके रोंगटे खड़े हो जाएंगे। इस कविता के माध्यम से अनामिका ने जमकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ की भी तारीफ की है।

इस कविता पाठ में अनामिका जैन अंबर कहती हैं कि देश के शहीदों बलिदानियों का कोई भी फसाना अब गुमनाम नहीं रह सकता क्योंकि ये मोदी की हुकुमत है और योगी का जमाना है। इसके साथ ही उन्होंने चौरी-चौरा के बलिदानियों को भी याद करते हुए कुछ पंक्तियां सुनाई।

आपको बता दें कि मेरठ हापुड़ लोकसभा सीट पर 2019 में अनामिका अंबर को प्रत्याशी बनाने की घोषणा एक कार्यक्रम के दौरान प्रसपा (प्रगतिशाली समाजवादी पार्टी) के प्रमुख शिवपाल यादव ने कर दिया था। इसके बाद अनामिका अंबर ने इस सीट से चुनाव लड़ने के लिए ताल ठोक भी दिया लेकिन सूत्रों की मानें तो जब उन्हें पता चला कि उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पार्टी के खिलाफ चुनाव लड़ना है तो उन्होंने अपने कदम वापस खींच लिए। इससे पहले उन्हें लगता था कि प्रदेश में शिवपाल यादव की पार्टी प्रगतिशाली समाजवादी पार्टी भाजपा के साथ गठबंधन में चुनाव लड़ेगी लेकिन ऐसा हो ना सका और अनामिका को अपने कदम पीछे खींचने पड़े।

Support Newsroompost
Support Newsroompost