राहुल गांधी बोले- कौन हैं जेपी नड्डा?, मिला जवाब- दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष

Rahul Gandhi: प्रकाश जावड़ेकर(Prakash Javdekar) ने राहुल गांधी(Rahul Gandhi) की बातों का पलटवार करते हुए प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि, “कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने आज ‘खेती का खून’ नाम से एक किताब का प्रकाशन किया। कांग्रेस को खून शब्द से बहुत प्यार है, खून की दलाली जैसे शब्दों का उन्होंने बहुत बार उपयोग किया है।”

Avatar Written by: January 19, 2021 6:25 pm
prakash javadekar rahul gandhi

नई दिल्ली। मंगलवार को कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक प्रेस कांफ्रेस में केंद्र की मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि, केंद्र ने जो तीन कृषि कानून पारित किए हैं, वो देश में खेती को बर्बाद कर देंगे। मैंं कानूनों का विरोध करता हूं और विरोध करता रहूंगा। वहीं भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के सवालों को लेकर राहुल गांधी ने कहा कि, मैं जेपी नड्डा के सवालों का जवाब नहीं दूंगा, सिर्फ किसानों और देश के सवालों का जवाब दूंगा। राहुल गांधी ने कहा कि नरेंद्र मोदी एक-एक चरण के हिसाब से किसानों को खत्म करने में लगे हैं। ये सिर्फ तीन कानून पर नहीं रुकेंगे, बल्कि आगे चलकर किसानों को खत्म करना चाहते हैं। ताकि देश की पूरी खेती अपने तीन-चार दोस्तों को दे सकें। उन्होंने कहा कि, मेरे खिलाफ चाहे पूरा देश खड़ा हो जाए, लेकिन इसके बाद भी मैं सही के लिए लड़ता रहूंगा। मैं नरेंद्र मोदी या बीजेपी से नहीं डरता हूं।

Rahul Gandhi PC

राहुल गांधी बोले कि ये लोग मुझे हाथ नहीं लगा सकते हैं, लेकिन गोली मरवा सकते हैं। कांग्रेस नेता राहुल गांधी बोले कि ये लोग किसानों को थकाना चाहते हैं, लेकिन उन्हें बेवकूफ नहीं बनाया जा सकता है। उन्होंने मोदी सरकार पर प्रहार करते हुए कहा कि, कांग्रेस पार्टी किसानों के आंदोलन का सम्मान करती है, लेकिन इनके खिलाफ जो भी बोलता है ये लोग उन्हें देशद्रोही बता देते हैं। सरकार वाले बोलने से पहले सोचते नहीं हैं, RSS से इन्हें यही सिखाया जाता है। लेकिन बोलने से पहले सोचने की जरूरत है। राहुल ने कहा कि प्रधानमंत्री का तरीका बात करने का नहीं है, वो अलग ही तरीके से चलते हैं।

राहुल गांधी ने कहा कि, उस वक्त मेरी सरकार थी जब मैंने भट्टा परसौल का मसला उठाया था। हमारी सरकार ने करोड़ों रुपये का कर्जा किसानों का माफ किया। बता दें कि मंगलवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी द्वारा हुई प्रेस कांफ्रेंस में उन्होंने एक बुकलेट जारी किया, जिसका शीर्षक ‘खेती का खून’ है।

राहुल गांधी की इस प्रेस कांफ्रेस का जवाब देने के लिए मोदी सरकार ने केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को जिम्मा दिया। ऐसे में प्रकाश जावड़ेकर ने राहुल गांधी की बातों का पलटवार करते हुए प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि, “कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने आज ‘खेती का खून’ नाम से एक किताब का प्रकाशन किया। कांग्रेस को खून शब्द से बहुत प्यार है, खून की दलाली जैसे शब्दों का उन्होंने बहुत बार उपयोग किया है।”

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि, “ये खेती का खून कह रहे हैं, लेकिन विभाजन के समय जो लाखों लोग मरें क्या वो खून का खेल नहीं था, 1984 में दिल्ली में 3 हजार सिखों को जिंदा जलाया गया क्या वो खून का खेल नहीं था।” उन्होंने कहा कि “कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया कि चार-पांच परिवार आज देश पर हावी है। देश में राज किसी परिवार का नहीं है, 125 करोड़ जनता का देश पर राज है, ये फर्क अब हुआ है। 50 साल कांग्रेस ने सरकार चलाई तो सिर्फ एक ही परिवार की सरकार चली, एक ही परिवार सत्ता में रहा।”

prakash javadekar BJP

वहीं जेपी नड्डा के सवालों का जवाब देने से मना करते हुए राहुल गांधी ने कहा था कि कौन हैं जेपी नड्डा, ऐसे में प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि, “भाजपा देश की सबसे प्रमुख पार्टी है, उसके अध्यक्ष नड्डा जी ने सवाल क्या पूछे। राहुल गांधी भाग गए। अगर प्रश्नों का उत्तर नहीं पता तो अपनी असफलता कबूल करनी चाहिए।” उन्होंने कहा कि, कांग्रेस नहीं चाहती की किसान की समस्या का समाधान हो। सरकार और किसान की वार्ता सफल हो ये कांग्रेस नहीं चाहती। इसलिए कांग्रेस विरोध-अवरोध की नीतियां अपनाती है।

वहीं चीन मसले पर राहुल गांधी को जवाब देते हुए केंद्रीय मंत्री किरण रिजिजू ने ट्वीट में कहा कि जिस जगह का मामला उठाया जा रहा है वहां कांग्रेस सरकार के दौरान चीन ने कब्जा किया था। एक राष्ट्रीय नेता किस तरह बिना फैक्ट के आरोप लगा सकता है?

Support Newsroompost
Support Newsroompost