Connect with us

देश

RSS On Muslims: आरएसएस के नेता इंद्रेश कुमार ने बताया क्यों हिंदुस्तानी हैं भारत के मुस्लिम, एक DNA होने का मतलब भी समझाया

इंद्रेश कुमार ने ही मुस्लिम राष्ट्रीय मंच की स्थापना की थी। वो इस संगठन से गहरे जुड़े हुए हैं। ये संगठन मुस्लिमों में देशभक्ति की भावना को बढ़ाने के इरादे से बनाया गया है। बीते दिनों जब मोहन भागवत ने दिल्ली में इमामों के प्रमुख से मुलाकात की थी और एक मदरसे गए थे, तब इंद्रेश कुमार भी उनके साथ थे।

Published

rss leader indresh kumar

ठाणे। ’99 फीसदी मुसलमान अपने पूर्वजों, संस्कृति, परंपरा और मातृभूमि के कारण हिंदुस्तानी हैं।’ ये बात राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के इंद्रेश कुमार ने रविवार को ठाणे में एक कार्यक्रम में कही। उन्होंने आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के उस बयान का भी समर्थन किया, जिसमें भागवत ने कहा था कि हमारे देशवासियों के पूर्वज एक ही थे और इसी वजह से सबका डीएनए DNA एक है। ठाणे के उत्तान में रामभाऊ महालगी प्रबोधिनी की बैठक में मुस्लिम राष्ट्रीय मंच (एमआरएम) के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए इंद्रेश कुमार ने मुस्लिमों को हिंदुस्तानी बताया। इस कार्यक्रम का रविवार को समापन सत्र था।

rss leader indresh kumar 1

इंद्रेश कुमार के बयान की विज्ञप्ति जारी की गई है। उन्होंने कार्यक्रम में कहा कि इस्लामी धार्मिक ग्रंथ कुरान के निर्देशों और सिद्धांतों के तहत हमें अपने देश के प्रति कर्तव्य को सबसे ऊपर मानने की जरूरत है। इंद्रेश ने कहा कि संघ प्रमुख मोहन भागवत ने बयान में डीएनए का अर्थ बताया था। इसमें D का मतलब ड्रीम्स वी गेट एवरीडे यानी हर रोज देखा जाने वाला सपना, N का मतलब नेटिव नेशन यानी मूल राष्ट्र और A का मतलब एनसेस्टर्स यानी पूर्वज हैं। इंद्रेश कुमार ने कहा कि हम सभी लोग अपनी मातृभाषा में ही सपने देखते हैं। उन्होंने कहा कि हमारे पूर्वज एक हैं और मूल राष्ट्र भी एक है। हम सभी डीएनए साझा करते हैं।

muslim rashtriya manch

ठाणे में चली दो दिन की कार्यशाला में महाराष्ट्र के 40 से ज्यादा जगहों से 250 कार्यकर्ता आए थे। इनमें महिलाओं की भी अच्छी खासी तादाद थी। पूरे सत्र के दौरान मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के राष्ट्रीय संयोजक इरफान अली पीरजादा, विराग पचपोरे और आरएसएस के अन्य नेता भी मौजूद थे। बता दें कि इंद्रेश कुमार ने ही मुस्लिम राष्ट्रीय मंच की स्थापना की थी। वो इस संगठन से गहरे जुड़े हुए हैं। ये संगठन मुस्लिमों में देशभक्ति की भावना को बढ़ाने के इरादे से बनाया गया है। बीते दिनों जब मोहन भागवत ने दिल्ली में इमामों के प्रमुख से मुलाकात की थी और एक मदरसे गए थे, तब इंद्रेश कुमार भी उनके साथ थे।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement