Connect with us

देश

Lucknow Building Collapse: लखनऊ में बिल्डिंग गिरने के मामले में सपा विधायक का बेटा गिरफ्तार, अब तक मलबे से बचाए गए 15 लोग

पहले खबर आई थी कि हादसे में 3 लोगों की मौत हुई, लेकिन इस खबर का बाद में प्रशासन ने खंडन कर दिया। मलबे से निकाले गए सभी लोगों को अस्पताल में दाखिल कराया गया है। प्रशासन के मुताबिक सपा विधायक के बेटे पर केस दर्ज किया गया है। इस मामले में प्रशासन सख्त कार्रवाई की तैयारी कर रहा है।

Published

lucknow building collapse 1

लखनऊ। यूपी की राजधानी लखनऊ में मंगलवार को बड़ा हादसा हुआ। यहां के हजरतगंज इलाके के वजीर हसन रोड पर एक 5 मंजिला बिल्डिंग गिर गई। इसमें तमाम लोग दब गए थे। खबर लिखे जाने तक मलबे से 15 लोगों को बाहर निकाला गया है। 3 और लोगों को निकालने की कोशिश जारी है। राहत के काम में एनडीआरएफ, एसडीआरएफ और सेना को भी लगाया गया। इस मामले में पुलिस ने समाजवादी पार्टी (सपा) के किठौर सीट से विधायक और पूर्व कैबिनेट मंत्री शाहिद मंजूर के बेटे को गिरफ्तार कर लिया है। सपा विधायक का बेटा नवाजिश मंजूर ही इस बिल्डिंग का मालिक है।

पुलिस के मुताबिक मलबे में फंसे लोगों को बचाने के लिए हर संभव कोशिश जारी है। उनको ऑक्सीजन सप्लाई भी दी गई। पहले खबर आई थी कि हादसे में 3 लोगों की मौत हुई, लेकिन इस खबर का बाद में प्रशासन ने खंडन कर दिया। मलबे से निकाले गए सभी लोगों को अस्पताल में दाखिल कराया गया है। प्रशासन के मुताबिक सपा विधायक के बेटे पर केस दर्ज किया गया है। इस मामले में प्रशासन सख्त कार्रवाई की तैयारी कर रहा है। आखिर 5 मंजिल की बिल्डिंग गिरी कैसे, इसकी जांच भी तेजी से कराई जा रही है।

lucknow building collapse 2

अब तक की जानकारी के मुताबिक बिल्डिंग के बेसमेंट में काम चल रहा था। कुछ लोगों के मुताबिक बिल्डिंग में दरारें आ गई थीं। पहले कहा जा रहा था कि बीते कल आए हल्के भूकंप से बिल्डिंग गिरी। फिर चर्चा ये होने लगी कि सिलेंडर ब्लास्ट से बिल्डिंग गिरी है। बाद में पता चला कि इसके बेसमेंट में काम कराया जा रहा था। हालांकि, मौके पर पहुंचे यूपी के डीजीपी डीएस चौहान ने बताया कि बिल्डिंग कैसे गिरी, इसका पता तो जांच के बाद ही चलेगा। उन्होंने बताया कि बिल्डिंग को यजदान बिल्डर्स ने बनाया था। डीजीपी के मुताबिक किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement