शशि थरूर ने बोस के बहाने साधा मोदी सरकार पर निशाना, लोगों ने लगा दी क्लास

Shahi Tharoor: शशि थरूर(Shashi Tharoor) के इस ट्वीट(Tweet) पर लोगों ने उनकी आलोचना कर दी। लोगों ने थरूर को कांग्रेस शासन की याद दिलाई। प्रभात यादव नाम के एक यूजर ने लिखा कि, “आजादी के लिए जो लड़े उनके हांथों से कभी कांग्रेस(Congress) अध्यक्ष का पद छीन लिया गया और कभी प्रधानमंत्री का पद।

Avatar Written by: January 24, 2021 4:02 pm
Shashi Tharoor

नई दिल्ली। 23 जनवरी को पूरे देश में नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती मनाई गई। इस दिन को केंद्र सरकार ने पराक्रम दिवस का नाम दिया है। वहीं इसको लेकर शनिवार को कोलकाता में एक कार्यक्रम भी आयोजित किया गया। जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, और राज्य के राज्यपाल राज्यपाल जगदीप धनखड़ भी आंमत्रित थे। इस मौके पर पीएम मोदी ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस को याद करते हुए कहा कि, हिंदुस्तान का एक-एक व्यक्ति नेताजी का ऋणी है। 130 करोड़ से ज्यादा भारतीयों के शरीर में बहती रक्त की एक-एक बूंद नेताजी सुभाष की ऋणी है। उन्होंने कहा कि, “आज जब भारत नेताजी की प्रेरणा से आगे बढ़ रहा है तो हम सभी का कर्तव्य है कि उनके योगदान को पीढ़ी दर पीढ़ी याद किया जाए। इसलिए देश ने ये तय किया है कि अब हर वर्ष हम नेताजी की जयंती, यानी 23 जनवरी को ‘पराक्रम दिवस’ के रूप में मनाया करेंगे।”

shashi tharoor

बता दें कि नेताजी को लेकर कांग्रेस के दिग्गज नेता शशि थरूर अपने एक ट्वीट को लेकर लोगों के निशाने पर आ गए। नेताजी की जयंती के एक दिन बाद यानी 25 दिसंबर को कांग्रेस नेता थरूर ने लिखा कि, “किस के हाथों वतन दे दिया, सिर नोच रहे होंगे जो आजादी के लिए लड़े …आज, सोच रहे होंगे।”

वहीं शशि थरूर के इस ट्वीट पर लोगों ने उनकी आलोचना कर दी। लोगों ने थरूर को कांग्रेस शासन की याद दिलाई। प्रभात यादव नाम के एक यूजर ने लिखा कि, “आजादी के लिए जो लड़े उनके हांथों से कभी कांग्रेस अध्यक्ष का पद छीन लिया गया और कभी प्रधानमंत्री का पद। 47 के बाद से 2014 तक गाते रहे केवल नेहरू गांधी परिवार का गान, जब हम देश को याद दिलाने लगे पटेल-सुभाष भी थे महान, तो फिर इतनी कुलबुलाहट क्यों होने लगी श्रीमान ??”

Tharoor Reply

देखिए शशि थरूर को लोगों ने किस तरह ट्रोल किया…

Support Newsroompost
Support Newsroompost