लॉकडाउन 2.0 : कोटा में फंसे स्टूडेंट्स प्रयागराज लाए गए, सभी का हुआ रैपिड टेस्‍ट

राजस्थान के कोटा से कई स्टूडेंट्स को रोडवेज की बसों से प्रयागराज लाया गया। जिसमें 13 छात्राएं और 31 छात्र हैं।

Avatar Written by: April 19, 2020 5:27 pm

प्रयागराज। कोरोना के बढ़ते प्रकोप के चलते लॉकडाउन बढ़ा दिया गया। जिससे कई लोग फंस गए हैं। उनमें स्टूडेंट्स भी शामिल हैं। हाल ही में राजस्थान के कोटा से कई स्टूडेंट्स को रोडवेज की बसों से प्रयागराज लाया गया। जिसमें 13 छात्राएं और 31 छात्र हैं।

ये स्टूडेंट्स कोटा के अलग-अलग कोचिंगों में मेडिकल और इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा की तैयारी कर रहे थे। प्रयागराज लेन के बाद उन्हें अलग-अलग गेस्ट हाउस में क्वारंटाइन किया गया है। रविवार की सुबह दो दर्जन टीम इन गेस्ट हाउसों में पहुंच कर छात्रों का रैपिड टेस्ट करने में लगी है। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक 1350 लोगों का रैपिड टेस्ट होना है।

लॉकडाउन के चलते प्रयागराज के भी ऐसे युवा कोटा में फंस गए थे जो वहां विभिन्न कोचिंगों में मेडिकल व इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा की तैयारी कर रहे हैैं। शनिवार की रात कई बसों से छात्र-छात्राओं को सिविल लाइंस बस स्टैंड लाया गया। वहां से उन्हें अलग-अलग गेस्ट हाउसों में क्वारंटाइन किया गया है।

इस बारे में सीएमओ डॉ. जीएस बाजपेई ने बताया, ”कोटा से लाए गए सभी छात्र-छात्राओं को घर भेजने से पहले उनका रैपिड एंटीबॉडी टेस्ट कराया जा रहा है। इस किट से 15-20 मिनट में रिपोर्ट आ जाएगी।”

इन सभी स्टूडेंट्स का रैपिड एंटीबॉडी टेस्ट रविवार को हो रहा है। इसके लिए 15 टीमें गठित की गई हैं। प्रशासनिक सूत्रों के मुताबिक 317 विद्यार्थियों को रात 10 बजे तक लाया गया था। इनके परिवार वाले भी पहुंचे। हालांकि उनके परिवारों को रैपिड टेस्ट होने तक मिलने से मना कर दिया गया।

Support Newsroompost
Support Newsroompost