कश्मीर में आपस में भिड़ गए टेररिस्ट, लश्कर के आतंकियों ने हिजबुल को धमकाया

टीआरएफ ने कहा कि कुछ दिन पहले हमने हिजबुल को चेतावनी दी थी कि कश्मीरी पुलिस वालों और सिविलियंस को मारना बंद करें। उन्होंने फिर एक जम्मू-कश्मीर पुलिस वाले को किडनैप किया। टीआरएफ ने चेतावनी देते हुए कहा कि हिजबुल को यह समझना चाहिए कि हमारी लड़ाई सेना से है न कि कश्मीरियों से। हम इन लोगों के सपॉर्ट के बिना सेना से नहीं लड़ सकते। 

Avatar Written by: April 28, 2020 6:21 pm

नई दिल्ली। कश्मीर में आतंकी आपस में भी भिड़ गए हैं। भारतीय सेना आतंकियों को लगातार काल के मुंह में भेज रही है। इस बीच कश्मीर में दो आतंकी संगठनों ने हिजबुल मुजाहिदीन को चेतावनी दे दी है। ये दोनों आतंकी संगठन लश्कर ए तैयबा से संबद्ध माने जाते हैं। इन दोनो ही आतंकी संगठनों के नाम हैं द रेजिस्टेंस फ्रंट (टीआरएफ) और दूसरा तहरीक-ए-मिल्लत-ए-इस्लामी (टीएमआई)।

Talibans Militant

इन्होंने हिजबुल मुजाहिद्दीन को सीधी चुनौती दे दी है। दरअसल पिछले  24 अप्रैल को आतंकियों ने अनंतनाग से जम्मू-कश्मीर पुलिस के एक सिपाही को अगवा किया था, जिसे सुरक्षाबलों ने छु़ड़ा लिया और इसमें दो आतंकी ढेर हुए। इसके बाद टीआरएफ ये चेतावनी दी।

टीआरएफ ने कहा कि कुछ दिन पहले हमने हिजबुल को चेतावनी दी थी कि कश्मीरी पुलिस वालों और सिविलियंस को मारना बंद करें। उन्होंने फिर एक जम्मू-कश्मीर पुलिस वाले को किडनैप किया। टीआरएफ ने चेतावनी देते हुए कहा कि हिजबुल को यह समझना चाहिए कि हमारी लड़ाई सेना से है न कि कश्मीरियों से। हम इन लोगों के सपॉर्ट के बिना सेना से नहीं लड़ सकते।

terrorist

इसी बयान में आतंकी संगठनों के बीच आपस की भिडंत और टूटफूट का भी जिक्र था। इस बयान में यह भी साफ कर दिया गया कि हिजबुल का एक कमांडर अब टीआरएफ में शामिल हो गया है। साथ ही कहा कि अगर हिजबुल ने कश्मीरी पुलिस और लोगों को मारना बंद नहीं किया तो अब वॉर्निंग नहीं दिया जाएगा, सीधे एक्शन लिया जाएगा।

Support Newsroompost
Support Newsroompost