Connect with us

देश

तिरंगे में लिपटा शहीद जवान राजेश ओरंग का पार्थिव शरीर बंगाल पहुंचा

लंबे इंतजार के बाद, शहीद जवान राजेश ओरंग का पार्थिव शरीर यहां उनके परिजनों को शुक्रवार को प्राप्त हो गया। तिरंगे में लिपटा शहीद जवान का पार्थिव शरीर बर्दवान जिले के पानगढ़ भारतीय वायुसेना के बेस कैंप से बीरभूम के मोहम्मद बाजार क्षेत्र के बेलगोरिया पहुंचा।

Published

on

कोलकाता। लंबे इंतजार के बाद, शहीद जवान राजेश ओरंग का पार्थिव शरीर यहां उनके परिजनों को शुक्रवार को प्राप्त हो गया। तिरंगे में लिपटा शहीद जवान का पार्थिव शरीर बर्दवान जिले के पानगढ़ भारतीय वायुसेना के बेस कैंप से बीरभूम के मोहम्मद बाजार क्षेत्र के बेलगोरिया पहुंचा। शहीद जवान को गार्ड ऑफ ऑनर और बंदूक की सलामी दी गई। पार्थिव शरीर यहां करीब सुबह 10 बजे के आसपास पहुंचा।


शहीद राजेश के पार्थिव शरीर के साथ काफिला पानगढ़ एयरबेस से तड़के उनके पैतृक गांव के लिए रवाना हुआ और इस दौरान काफिले ने 150 किलोमीटर की दूरी तय की। शहीद जवान के गांव में हजारों लोगों ने अपने इस बहादुर बेटे को श्रद्धांजलि दी।


जैसे ही सेना के अधिकारी शहीद जवान का पार्थिव शरीर लेकर उनके गांव पहुंचे, उनकी मां ममता ओरंग भावुक हो गईं। रोजेश के पार्थिव शरीर को बेलगोरिया गांव में ही पास के मैदान में दफनाया जाएगा। दूसरी तरफ, एक और शहीद जवान बिपुल राय के पार्थिव शरीर का उनके परिजन इंतजार कर रहे हैं। पार्थिव शरीर के अलीपुरद्वार के बिंदीपारा में कुछ देर बाद पहुंचन की संभावना है।


उल्लेखनीय है कि चीन के साथ लगती लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ झड़प के दौरान हमारे 20 जवान शहीद हो गए थे, जिनमें ये दोनों जवान भी शामिल थे। इससे पहले, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने दोनों शहीद जवान के परिवार को 5-5 लाख रुपये और परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने की घोषणा की थी।

Advertisement
Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Advertisement