नोटों को चाटकर, उससे नाक पोंछकर कोरोना फैलाने की साजिश रचनेवाला टिकटॉकर गिरफ्तार

नोट चाटने वाला वीडियो पोस्ट करने के बाद आरोपी सैयद जमील को पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया है। जमील पर आरोप है कि उसने कोरोना से न डरने अफवाह फैलाई है।

Written by: April 4, 2020 5:02 pm

नई दिल्ली। इस वक्त पूरा भारत कोरोनावायरस के खिलाफ एक महायुद्ध लड़ रहा है। वहीं भारत सरकार लगातार लोगों से सावधानी बरतने और घरों के अंदर रहने के लिए अपील कर रही है। जिससे कि कोरोना वायरस जैसी महामारी से निपटा जा सके।

coronavirus

लेकिन देश के ही अंदर कोरोनावायरस जैसे खतरे को नजरअंदाज करने वाले और उसको फैलाने की साजिश रचने वाले बहुत से लोग मौजूद हैं। जो कोरोना के खिलाफ भारत सरकार की लड़ाई को कमजोर करने का काम कर रहे हैं। यह भारत सरकार की सबसे महत्वपूर्ण अपील सामाजिक दूरी को दरकिनार करते हुए या तो धार्मिक जलसों में शामिल हो रहे हैं या फिर किसी और तरीके से लोगों को कोरोना वायरस का शिकार बनाने की कोशिशों में लगे हुए हैं।

दरअसल, मौजूदा समय में देश के अंदर सारे ऐसे टिक टॉक वीडियो सर्क्युलेट हो रहे हैं जिनमें मुस्लिम युवाओं की आबादी को धर्म के नाम पर भड़काने और को महामारी से लड़ाई में भारत को हराने के लिए साजिशें रची जा रही हैं। भारत में ऐसी 30,000 से ज्यादा टिक टॉक क्लिप सर्क्युलेट हो रही हैं जिनमें धर्म के आधार पर कोरोनावायरस से सावधानी नहीं बरतने की बात की जा रही है।

TIKTOK

गौरतलब है कि हाल ही में टिक टॉक पर एक वीडियो वायरल हुआ जिसमें एक मुस्लिम युवक यह कहता हुआ सुना जा सकता है कि  कोरोनावायरस से डरकर मास्क मत पहनो, कोरोना से डरो मत। इसके अलावा वह कहता है कि डरना है तो अल्लाह से डरो ना, जाओ जाकर पांच वक्त की नमाज अदा करो।

इससे पहले टिक टॉक पर ही नोटों को चाट कर कोरोना फैलाने की साजिश करने वाला टिक टॉक का वीडियो भी जमकर वायरल हुआ था। नोट चाटने वाला वीडियो पोस्ट करने के बाद आरोपी सैयद जमील को पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया है। जमील पर आरोप है कि उसने अफवाह फैलाई है। इस वीडियो में 38 साल का जमील कथित तौर पर नोटों को चाटते हुए साफ देखा जा सकता है।

इसके अलावा इसी वीडियो में उसने नोटों से अपनी नाक को भी पौंछा और उसने यह भी कहा कि कोरोनावायरस अल्लाह की सजा है। जिसका इस दुनिया में किसी के भी पास कोई भी इलाज नहीं है। लेकिन अब इस शख्स को पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया है

इस युवक की गिरफ्तारी के बारे में जानकारी देते हुए एक अधिकारी ने बताया कि आरोपी सैयद जमील को मालेगांव पुलिस ने गिरफ्तार किया है और अब इसको 7 अप्रैल तक की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

इसके साथ ही टिक टॉक पर एक ‘वेलकम टू इंडिया कोरोनावायरस’ नाम से वीडियो भी खूब वायरल हो रहा है। पुलिस ने बताया कि यह वीडियो काफी भड़काऊ था इसलिए मालेगाव पुलिस ने अब्दुल कुरेशी, सैयद हुसैन अली और सुफियान मुख्तार को गिरफ्तार कर लिया है।

गौरतलब है कि कोरोनावायरस के प्रकोप से दुनिया परेशान है मगर कुछ लोग हैं अभी भी जो इस वायरस का मजाक बनाकर समाज के एक वर्ग को भड़काने का काम कर रहे हैं।