कोरोना से जंग : ट्रंप ने भारत के लोगों को कहा धन्यवाद तो बदले में पीएम मोदी ने दिया ये जवाब

हले अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि उनके देश ने कोरोनावायरस की महामारी से लड़ने के लिए हाइड्रॉक्सी क्लोरोक्वीन की 2.9 करोड़ खुराक खरीदी है, जिसमें भारत की बहुत बड़ी हिस्सेदारी है।

Written by: April 9, 2020 10:44 am

नई दिल्ली। भारत द्वारा मलेरियारोधी दवा हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन की बिक्री की इजाजत देने पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट कर पीएम मोदी और भारतवासियों को धन्यवाद कहा है। ट्रंप ने एक ट्वीट में पीएम मोदी को मजबूत नेता बताया है और उनके द्वारा कोरोना से लड़ने के लिए किए गए कार्यों को भी सराहा है।

modi meet to trump

हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन के निर्यात को मंजूरी देने पर ट्रंप ने अपने ट्वीट में अमेरिका और भारत की दोस्ती को लेकर लिखा, ‘असाधारण समय में दोस्तों के बीच निकटतम सहयोग की आवश्यकता रहती है। भारत और भारत के लोगों को धन्यवाद, इसे भुलाया नहीं जाएगा। कोरोना से लड़ने में पीएम मोदी ने न सिर्फ भारत बल्कि मानवता की सहायता की है। इस मजबूत नेतृत्व के लिए आपका धन्यवाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।”

trump thank to india

ट्रंप के इस ट्वीट पर जवाब देते हुए पीएम मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति की बातों से सहमति जताई है। उन्होंने लिखा कि, “आपसे पूरी तरह से सहमत हूं राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप, ऐसे गंभीर समय ही दोस्तों को करीब लाते हैं। भारत-अमेरिका की साझेदारी पहले से ज्यादा मजबूत है। भारत COVID-19 के खिलाफ मानवता की लड़ाई में सहायता करने के लिए हर संभव प्रयास करेगा। हम इसे एक साथ जीतेंगे।”

modi reply to trump

इससे पहले भारत द्वारा हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन के निर्यात पर मुहर लगाते ही अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने प्रधानमंत्री मोदी की तारीफ की थी। उन्होंने मोदी को महान और बहुत अच्छे नेता भी बताया।

ट्रंप ने अमेरिकी न्यूज चैनल फॉक्स न्यूज से बातचीत के दौरान कहा- नरेंद्र मोदी ने हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन के मामले में हमारी मदद की है, वह काफी अच्छे हैं। ट्रंप ने कहा कि हम विदेश से कई दवाइयां मंगवा रहे हैं। इसमें भारत में बनाई जाने वाली हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन दवाइयां भी शामिल है। इसे लेकर मैंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी बात की थी। भारत से अभी बहुत अच्छी चीजें आनी बाकी हैं। अमेरिका ने कोरोना महामारी से लड़ने के लिए भारत से हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन की 29 मिलियन डोज खरीदी है।

hydroxychloroquine medicine

बता दें कि हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन भारत में मलेरिया के इलाज की दवा है। भारत में मलेरिया के मामले हर साल बड़ी संख्या में आते हैं और यही वजह है कि भारत इसका सबसे बड़ा उत्पादक है। ये दवा इस वक्त एंटी-वायरल के रूप में इस्तेमाल हो रही है। मंगलवार को ही सरकार ने इस दवा पर लगे निर्यात से आंशिक तौर पर प्रतिबंध हटाया है। विदेश मंत्रालय के अनुसार सरकार ने मानवीय आधार पर यह फैसला लिया है। ये दवाएं उन देशों को भेजी जाएंगी जिन्हें भारत से मदद की आस है। हालांकि सरकार ने यह भी कहा कि घरेलू जरुरतें पूरी होने के बाद स्टॉक की उपलब्धता के आधार पर ही निर्यात किया जाएगा।