Connect with us

देश

UP Govt: योगी सरकार में सबकुछ ठीक नहीं? मंत्री दिनेश खटिक ने दिया इस्तीफ़ा, बताई ये वजह

UP Govt: उन्हें बैठकों में बुलाना भी जरूरी नहीं समझा जाता था। सरकार में कुछ खास महत्व नहीं दिया जाता है, जबकि वे अपने कार्य के प्रति समयबद्ध व प्रतिबद्ध रहते थे। यही नहीं, उन्होंने ट्रांसफर के मामलों में कथित रूप से भ्रष्टाचार के भी आरोप लगाए हैं। उन्होंने नामामि गंगे जैसे महत्वाकांक्षी योजना में भी भ्रष्चाचार की बात कही है।

Published

on

नई दिल्ली। कभी न्यूज़ वेबसाइट, तो कभी अखबार, तो कभी न्यूज चैनलों पर आप मंत्रियों से जुड़े इस्तीफों की खबरों के बारे में आप जरूर पढ़ते होंगे या सुनते होंगे। अमूमन, इस्तीफा देने के पीछे किसी की अपनी मजबूरी होती है, तो किसी की अपनी निजी वजह तो किसी का अपना दर्द भी होता है। जी हां.. बिल्कुल…सही पढ़ा आपने… आज एक ऐसे ही दर्द को बयां करते हुए योगी सरकार में जल शक्ति मंत्री दिनेश खटीक ने अपना इस्तीफा राजभवन को सौंप दिया है। इसके साथ ही उन्होंने अपना इस्तीफा केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को भी सौंप दिया है, जिसमें उन्होंने खुद के इस्तीफा देने के पीछे की वजह जाहिर की है। उन्होंने अपने इस्तीफा पत्र में बताया है कि किस तरह उन्हें प्रशासनिक समेत राजनीतिक गतिविधियों में महज इसलिए उपेक्षित किया जा रहा है, क्योंकि वे दलित हैं। उन्होंने कहा कि दलित होने की वजह से उनके सहयोगी भी उनसे सही से बर्ताव नहीं करते हैं।

यूपी सरकार में जलशक्ति विभाग के राज्यमंत्री दिनेश खटीक का इस्तीफा! सीएम योगी के साथ मंत्रियों की बैठक में नहीं हुए शामिल - UP government Jal Shakti ...

उन्हें बैठकों में बुलाना भी जरूरी नहीं समझा जाता था। सरकार में कुछ खास महत्व नहीं दिया जाता है, जबकि वे अपने कार्य के प्रति समयबद्ध व प्रतिबद्ध रहते थे। यही नहीं, उन्होंने ट्रांसफर के मामलों में कथित रूप से भ्रष्टाचार के भी आरोप लगाए हैं। उन्होंने नामामि गंगे जैसे महत्वाकांक्षी योजना में भी भ्रष्टाचार की बात कही है। इसके साथ ही उन्होंने उप सचिव का जिक्र कर कहा कि वे बिना मेरी बात को सुने फोन काट दिया करते हैं और जिस तरह का व्यवहार मेरे साथ किया जाता है, वह निंदनीय है, मैं कई बार इसकी शिकायत कर चुका हूं, लेकिन आज तक मेरी शिकायतों पर संज्ञान लेकर उसका निराकरण करना जरूरी नहीं समझा गया है। उन्होंने आगे कहा कि जिस तरह का उपेक्षित व्यवहार मेंरे साथ किया जाता था, वो अपमानजनक था।

मेरठ में इस्तीफा देने को मंत्री ने बुलाई प्रेस वार्ता तब पुलिसकर्मियों पर दर्ज हुआ मुकदमा, पढ़ें पूरा मामला - Minister called press conference to resign in Meerut ...

उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा शुरू की गई किसी-भी य़ोजना की जानकारी मुझे नहीं दी जाती थी। जिसकी वजह से मुझे प्रशासनिक गतिविधियों में परेशानी होती थी। बता दें कि इस बीच उन्होंने मीडिया से मुखातिब होने के क्रम में भी अपना दर्द बयां किया है।

 हालांकि, उनके द्वारा लिखे गए पत्र की पार्टी की तरफ से कोई अधिकृत प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है। ऐसे में इस पूरे प्रकरण में अधिकृत रूप से कोई भी टिप्पणी करना मुश्किल हो सकता है। अब ऐसे में यह पूरा माजरा आगामी दिनों में क्या रुख अख्तियार करता है। इस पर सभी की निगाहें टिकी रहेंगी।

Advertisement
Advertisement
देश4 hours ago

Bharat Jodo Yatra: उज्जैन पहुंचे राहुल गांधी ने किए बाबा महाकाल के दर्शन, मंदिर में गुजारे 20 मिनट, दूध से शिवलिंग का किया अभिषेक

खेल5 hours ago

Roger Binny : बहू के कारण मुश्किलों में घिरे BCCI अध्यक्ष रोजर बिन्नी, मिला नोटिस, जानिए क्या है पूरा मामला

देश5 hours ago

Harsh Firing: दूल्हे को शादी में हर्ष फायरिंग करना पड़ा महंगा, पुलिस ने सिखाया कड़ा सहक, कर दी ये बड़ी कार्रवाई

खेल6 hours ago

FIFA 2022, Netherlands vs Qatar : विश्व कप में एक भी मुकाबला नहीं जीत सका मेजबान कतर, जीत के बाद 11वीं बार प्री-क्वार्टर फाइनल में पहुंचा नीदरलैंड

देश6 hours ago

Rajasthan: राहुल के इस बयान ने किया गहलोत पर जादू, पुराने शिकवे भुलाकर पायलट के साथ साझा किया मंच, दिया ये बयान

Advertisement