लखनऊ-नोएडा में लागू होगा कमिश्नरी सिस्टम, योगी कैबिनेट ने दी हरी झंडी

योगी सरकार ने उत्तर प्रदेश और नोएडा में पुलिस कमिश्नरी सिस्टम को मंजूरी दे दी है। सोमवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में लोकभवन में हुई कैबिनेट की बैठक में लखनऊ व गौतमबुद्धनगर में पुलिस आयुक्त प्रणाली लागू करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी गई है।

Avatar Written by: January 13, 2020 11:34 am

नई दिल्ली। योगी सरकार ने उत्तर प्रदेश और नोएडा में पुलिस कमिश्नरी सिस्टम को मंजूरी दे दी है। सोमवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में लोकभवन में हुई कैबिनेट की बैठक में लखनऊ व गौतमबुद्धनगर में पुलिस आयुक्त प्रणाली लागू करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी गई है। लखनऊ व गौतमबुद्धनगर में अब पुलिस कमिश्नर होंगे। सुजीत पाण्डेय लखनऊ के पहले पुलिस कमिश्नर होंगे वहीं गौतमबुद्ध नगर के पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह होंगे।

up cm yogi adityanath

इस बारे में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पिछले 50 सालों से बेहतर और स्मार्ट पुलिसिंग के लिए पुलिस आयुक्त प्रणाली की मांग की जा रही थी। हमारी कैबिनेट ने ये प्रस्ताव पास कर दिया है। सीएम योगी ने कहा कि एडीजे स्तर के अधिकारी पुलिस आयुक्त होंगे, जबकि 9 एसपी रैंक के अधिकारी तैनात होंगे। उन्होंने कहा कि एक महिला एसपी रैंक की अधिकारी महिला सुरक्षा के लिए इस सिस्टम में तैनात होगी।

इसके अलावा बैठक में मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना बीमा योजना की जगह मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटनाकल्याण योजना शुरू करने व घाघरा का नाम बदलकर सरयू नदी करने सहित कई महत्वपूर्ण प्रस्तावों को मंजूरी दे सकती है। मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना बीमा योजना पिछले वर्ष ही खत्म हो चुकी है। नई योजना पिछली योजना खत्म होने के समय से ही लागू करने की तैयारी है। इससे दोनों योजनाओं के बीच की अवधि के पीड़ित परिवारों को नई योजना का लाभ मिल सकेगा।

CM Yogi Adityanath

सरकार के मुताबिक पुलिस एक्ट में 10 लाख की ऊपर की आबादी पर पुलिस कमिश्नरेट लागू करने का नियम है लेकिन राजनैतिक इच्छा शक्ति और कानून व्यवस्था को सुधारने की कोशिशों में कमी के चलते अभी तक की सरकारों ने इसे लागू करने में रुचि नही दिखाई। लखनऊ शहर में 40 लाख और गौतमबुद्ध नगर में 25 लाख आबादी है । इसलिए यहां पुलिस कमिश्नर सिस्टम लागू किया जा रहा है। इसके तहत लखनऊ में 40 थानो को मेट्रोपोलिटन सिटी के रूप में मान्यता दी गई है। यहां एडीजी स्तर का अधिकारी पुलिस कमिश्नर होगा जबकि दो आईजी रेंक के अडिशनल कमिश्नर व एसपी रैंक के 9 अधिकारी तैनात होंगे।