Connect with us

देश

Divya Kakran vs AAP: पहलवान दिव्या और AAP के बीच बयानों की जंग तेज, केजरीवाल के विधायक ने एथलीट पर उठाए सवाल तो सर्टिफिकेट दिखा बोलती की बंद

Divya Kakran vs AAP: उन्होंने ट्वीट कर लिखा, साल 2011 से 2017 तक में दिल्ली से खेलती थी ये रहा सर्टिफिकेट दिल्ली स्टेट का! अगर आपको भी अभी भी यकिन नहीं तो दिल्ली स्टेट से 17 गोल्ड है मेरे वो सर्टिफिकेट भी अपलोड करूं।

Published

on

नई दिल्ली। कॉमनवेल्थ गेम्स (Common Wealth Games 2022) में भारत का मान बढ़ाने वाली महिला पहलवान दिव्या काकरान (Divya Kakran) और दिल्ली की केजरीवाल के बीच अब जुबानी जंग और तेज होती दिखाई दे रही है। दरअसल बीते दिनों पहले राष्ट्रमंडल खेलों में भारत को कांस्य पदक दिलाने वाली पहलवान दिव्या काकरान ने केजरीवाल सरकार की पोल खोली थी। दिव्या काकरान ने सीएम अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधते हुए दिल्ली के खिलाड़ियों को मदद नहीं पहुंचाने का आरोप लगाया था। लेकिन ये विवाद यही खत्म नहीं हुआ। इसके बाद केजरीवाल के विधायक सौरभ भारद्वाज ने बीते दिन एथलीट को लेकर एक ट्वीट किया। जिसमें सौरभ भारद्वाज ने देश का सिर गर्व से ऊंचा करने वाली को दिव्या को यूपी की ओर से खेलने की बात कह डाली। लेकिन उनके इस ट्वीट पर मंगलवार को दिव्या काकरान ने पलटवार करते हुए सर्टिफिकेट दिखाकर बोलती बंद कर दी है।

उन्होंने ट्वीट कर लिखा, साल 2011 से 2017 तक में दिल्ली से खेलती थी ये रहा सर्टिफिकेट दिल्ली स्टेट का! अगर आपको भी अभी भी यकिन नहीं तो दिल्ली स्टेट से 17 गोल्ड है मेरे वो सर्टिफिकेट भी अपलोड करूं।

बता दें कि दिव्या काकरान ने दिल्ली सरकार पर निशाना साधते हुए लिखा था कि, ”मेडल की बधाई देने पर दिल्ली के माननीय मुख्यमंत्री जी को तहे दिल से धन्यवाद मेरा आपसे एक निवेदन है कि मैं पिछले 20 साल से दिल्ली मे रह रही हूं और यही अपने खेल कुश्ती का अभ्यास कर रही हूं परंतु अब तक मुझे राज्य सरकार से किसी तरह की कोई इनाम राशि नहीं दी गई न कोई मदद दी गई।”

इसके जवाब में सौरभ भारद्वाज ने ट्वीट करते हुए लिखा था कि, ”हो सकता है मैं ग़लत हूं बहन, मगर मैंने ढूंढा तो पाया कि आप दिल्ली राज्य की तरफ़ से नहीं , हमेशा उत्तर प्रदेश की तरफ़ से खेलती रही है। आज पूरे देश को आप पर नाज़ है । ईश्वर से प्रार्थना है कि आप और आगे बढ़ें।”

Advertisement
Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Advertisement