UP: मदरसा शिक्षकों की गड़बड़ियां रोकने के लिए योगी सरकार ने उठाया बड़ा कदम, होगा शिक्षकों का तबादला

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में योगी सरकार मदरसों (Yogi Government) को लेकर सख्त होती जा रही है। मदरसों में फर्जीवाड़ा रोकने के लिए सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मोहसिन रजा ने इस बारे में जानकारी दी है।

Avatar Written by: January 10, 2021 11:00 am
UP Madrasas

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में योगी सरकार मदरसों (Yogi Government) को लेकर सख्त होती जा रही है। मदरसों में फर्जीवाड़ा रोकने के लिए सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मोहसिन रजा ने इस बारे में जानकारी दी है। यूपी में 560 अनुदानित मदरसों में लगभग 9000 शिक्षक पढ़ाते हैं। ऐसे में अब खबर है कि मदरसा शिक्षकों का तबादला भी हो सकता है। सरकार के इस फैसले से उन शिक्षकों पर लगाम कसी जाएगी जो एक से अधिक मदरसों में पढ़ाने का कार्य करते हैं।

madarsa

अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मोहसिन रजा ने इस बारे में जानकारी देते हुए कहा, ”अब मदरसों में फर्जीवाड़ा नहीं चल पाएगा। शिक्षकों के नाम पर सरकार मदरसा शिक्षकों की गड़बड़ियों को रोकने के लिए अहम कदम उठाने जा रही है। प्रदेश सरकार मदरसा शिक्षकों का विवरण मानव संपदा पोर्टल पर फीड करा रही है। उन्होंने कहा कि इस कदम से सभी मदरसा शिक्षकों का विवरण एक स्थान पर मिल जाएगा। सरकार मदरसा शिक्षकों के लिए तबादला नीति भी ला सकती है। इससे न सिर्फ पारदर्शिता आएगी, बल्कि मदरसा के शिक्षा स्तर में भी सुधार होगा। मोहसिन रजा के अनुसार शिक्षकों का विवरण मानव संपदा पोर्टल पर फीड होगा।”

mohsin raza

यूपी में 560 अनुदानित मदरसों में लगभग 9000 शिक्षक पढ़ाते हैं। जिसमें नौ हजार शिक्षक पढ़ाते हैं। राज्य में सरकार की तरफ से मदरसा शिक्षकों को वेतन दिया जाता है। मोहसिन रजा ने बताया कि पहले चरण में अनुदानित मदरसा शिक्षकों का विवरण मानव संपदा पोर्टल पर फीड किया जाएगा। दूसरे चरण में मान्यता प्राप्त अन्य मदरसा शिक्षकों के विवरण ऑनलाइन किए जाएंगे। इससे वे मदरसा शिक्षक भी पकड़ में आ जाएंगे, जो एक साथ कई मदरसों में काम कर रहे हैं। कई बार मदरसा प्रबंधक मान्यता लेने के लिए दूसरे मदरसों के शिक्षकों को अपने यहां दिखा देते हैं। इस पर भी नई व्यवस्था में लगाम लग सकेगी।

Support Newsroompost
Support Newsroompost