उड़ीसा और बेंगलुरु के बाद अब नवी मुंबई से भागे 11 कोरोनावायरस संदिग्ध, तलाश जारी

जहां कोरोना वायरस (COVID-19) के 11 संदिग्ध मरीज सरकारी अस्पताल से भाग गए हैं।  अबतक मिली जानकारी के अनुसार इन मरीजों को आइसोलेशन में रखा गया था।  पुलिस लगातार इनकी तलाश में जुटी हुई है।

Avatar Written by: March 16, 2020 11:55 am

नई दिल्ली। एक तरफ जहां भारत सरकार कोरोनावायरस के बचने के लिए हर जरूरी कदम उठा रही है तो वहीं दूसरी  तरफ लगातार देशभर से कोरोनावायरस प्रभावित या संदिग्ध लोगों के भागने की खबरें सुनने को मिल रही हैं। दरअसल इससे जुड़ा एक नया मामला सामने आया है नवी मुंबई से, जहां कोरोना वायरस (COVID-19) के 11 संदिग्ध मरीज सरकारी अस्पताल से भाग गए हैं।  अबतक मिली जानकारी के अनुसार इन मरीजों को आइसोलेशन में रखा गया था।  पुलिस लगातार इनकी तलाश में जुटी हुई है।

Coronavirus

महाराष्ट्र में कोरोनावायरस के सर्वाधिक मामले

गौरतलब है कि कोरोना के सबसे ज्यादा केस महाराष्ट्र (Maharashtra) से सामने आ रहे हैं। महाराष्ट्र से अब तक 32 मामले सामने आए हैं। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए एहतियातन महाराष्ट्र के सभी सिनेमा घर बंद कर दिए गए हैं।

CoronaVirus

इससे पहले बेंगलुरु से आगरा भाग गयी थी संदिग्ध महिला

इससे पहले इटली में हनीमून मनाकर लौटे एक जोड़े में पति को जब कोरोनावायरस पॉजिटिव पाया गया तो पत्नी बेंगलुरु से भागकर फ्लाइट और ट्रेन से आगरा पहुंच गयी थी। हालांकि कोरोना संदिग्ध महिला के खिलाफ आगरा के जिलाधिकारी ने एफआईआर दर्ज करवा दी है।

महिला का पति गूगल में इंजीनियर है। दोनों हनीमून के लिए यूरोप गए थे और इटली से लौटे थे। पति को जांच में संक्रमित पाया गया था और महिला को भी चिकित्सकों ने आइसोलेशन वार्ड में रहने को कहा था मगर वह वहां से भागकर फ्लाइट से दिल्ली पहुंची और फिर ट्रेन से अपने मायके आगरा पहुंची। एफआईआर में उस पर स्वास्थ्य अधिकारियों के काम में बाधा डालने का आरोप लगाया गया है।\

Coronavirus

ओडिशा में भी सामने आया मरीज के भागने का मामला

बता दें इससे पहले ओडिशा (Odisha) के एक अस्पताल से भी कोरोना का एक संदिग्ध मरीज फरार हो गया था। जैसे ही ये खबर वहां के प्रशासन को लगी,  उनके होश उड़ गए। ओडिशा के कटक (Cuttack) में इस संदिग्ध मरीज का इलाज किया जा रहा था। आइसोलेशन से भागने वाले मरीज की पहचान आयरिश नागरिक के रूप में की गई है।

भारत सरकार भी लगातार लोगों से कोरोनावायरस टेस्ट में सहयोग करने और सावधानी बरतने की अपील कर रही है। हर जगह इससे जुडी सावधानियों के पोस्टर चस्पा किये गए हैं और विज्ञापनों का भी सहारा लिया जा रहा है। प्रशासन लोगों से ये अपील कर रहा है कि वो स्वास्थ्य विभाग की जांच में बाधा उत्पन्न न करें।