कोरोना के कहर का कितना और होगा दिल्ली पर असर कैसे होगी इसकी रोकथाम, बताएंगे एलजी के एक्सपर्ट

दिल्ली में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए उपराज्यपाल अनिल बैजल ने 6 सदस्यीय विशेष कमेटी का गठन किया है। इस कमेटी में एम्स के निदेशक रणदीप गुलेरिया और आईसीएमआर के महानिदेशक बलराम भार्गव को शामिल किया गया है।

Avatar Written by: June 12, 2020 11:25 pm

नई दिल्ली। दिल्ली में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए उपराज्यपाल अनिल बैजल ने 6 सदस्यीय विशेष कमेटी का गठन किया है। इस कमेटी में एम्स के निदेशक रणदीप गुलेरिया और आईसीएमआर के महानिदेशक बलराम भार्गव को शामिल किया गया है। विशेषज्ञों की यह कमेटी, दिल्ली में कोरोना वायरस फैलने से कैसे रोका जाए, इसके उपाय सुझाएगी।

kejriwal anil baijal

उपराज्यपाल अनिल बैजल द्वारा गठित की गई सलाहकार समिति के लिए छह विशेषज्ञों को शामिल किया गया है। इनमें एम्स के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया, आईसीएमआर के महानिदेशक बलराम भार्गव, एनडीएमए के सदस्य कृष्ण वत्स और कमल किशोर, दिल्ली स्वास्थ्य सेवा (डीजीएसएस) के एडिशनल डीडीजी डॉ. रवींद्र और एनसीडीसी के डायरेक्टर डॉ. सुरजीत कुमार सिंह को भी शामिल किया गया है।

राज निवास के मुताबिक, विशेषज्ञों की यह सलाहकार समिति दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी यानी डीडीएमए को कोरोना की रोकथाम संबंधी प्रभावी उपाय सुझाएगी। सलाहकार समिति द्वारा सुझाए गए उपायों के अंतर्गत बताया जाएगा कि कैसे दिल्ली में कोरोना संक्रमण को फैलने से रोका जाए। कमेटी सीधे डीडीएमए को अपने सुझाव देगी। गौरतलब है कि डीडीएमए के चेयरमैन स्वयं दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल हैं।

Randeep Guleria

इससे पहले शुक्रवार को ही उपराज्यपाल अनिल बैजल ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ बैठक की। उपराज्यपाल ने कहा, “मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ बैठक हुई। दिल्ली में बनाए गए कोरोना के कंटेनमेंट जोन के प्रबंधन और रणनीति पर चर्चा की गई।”

hospital corona

गौरतलब है कि दिल्ली में अभी तक 34,687 व्यक्ति कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके हैं। इसके अलावा दिल्ली में कोरोना वायरस से 1085 व्यक्तियों की मृत्यु भी हो चुकी है।

दिल्ली सरकार के मुताबिक जुलाई अंत तक दिल्ली में कोरोना के लगभग साढे पांच लाख रोगी होंगे। इतनी बड़ी संख्या में रोगियों के उपचार एवं बेड की आवश्यकता को पूरा करने के लिए दिल्ली सरकार दिल्ली के विभिन्न स्टेडियमों में बेड लगाएगी।