शर्मनाक : उत्तर प्रदेश में सड़क पर अधेड़ ने तोड़ा दम, कचरा गाड़ी में शव को डालकर ले गए पुलिसकर्मी

उत्तर प्रदेश के बलरामपुर जिले में एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। यहां सड़क पर बीमारी की वजह से एक अधेड़ की मौत हो जाने के बाद उसे पुलिसकर्मियों की मौजूदगी में नगर पालिका के कर्मचारियों द्वारा कचरा गाड़ी में ले जाया गया।

Avatar Written by: June 11, 2020 7:03 pm

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के बलरामपुर जिले में एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। यहां सड़क पर बीमारी की वजह से एक अधेड़ की मौत हो जाने के बाद उसे पुलिसकर्मियों की मौजूदगी में नगर पालिका के कर्मचारियों द्वारा कचरा गाड़ी में ले जाया गया। इस घटना का वीडियो वायरल होने के बाद अब मामले ने तूल पकड़ लिया है।

जब पुलिस विभाग की इस करतूत का वीडियो सामने आया तो पुलिस महकमा लीपापोती में लग गया। हालांकि, मामले की जानकारी मिलने पर दरोगा रविन्द्र कुमार रमन, दो आरक्षक शुभम पटेल और शैलेन्द्र शर्मा के अलावा नगर पालिका के चार कर्मचारियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है।

यह है पूरा मामला

यह पूरा मामला जिले के उतरौला कोतवाली क्षेत्र का है। जहां पुलिस को तहसील गेट के सामने एक अज्ञात व्यक्ति का शव होने की सूचना मिली थी। मौके पर पहुंचे उतरौला कोतवाल अनिल यादव ने शव की शिनाख्त सादुल्लाहनगर के सहजौरा में रहने वाले अनवर अली के रूप में की।

इसके बाद पुलिस ने शव को एंबुलेंस या किसी अन्य गाड़ी से पोस्टमार्टम हाउस तक भेजने के बजाए नगर पालिका परिषद की मदद ली और कूड़ा गाड़ी बुलवाकर सफाई कर्मियों से शव को उसी गाड़ी में रखवाया और भेज दिया।

एसपी बोले- वीडियो देखकर जांच के आदेश दिए

एसपी देव रंजन वर्मा ने बताया- यह घटना बुधवार की है। तहसील गेट पर लाश मिलने की सूचना मिली थी। पुलिस मौके पर गई थी। स्वास्थ्य टीम भी मौके पर गई थी। अगर वह व्यक्ति कोरोना का संदिग्ध था भी तो पीपीई किट पहन कर उसे वहां से हटाया जाना चाहिए था, न कि नगरपालिका की कूड़ा गाड़ी में रखकर। घटना का वीडियो हमने और डीएम ने देखा है। हम लोगों ने संयुक्त जांच के आदेश दिए हैं।