पाकिस्तान को मिला फ्रांस से तगड़ा झटका, मिराज फाइटर जेट को अपग्रेड करने के अनुरोध पर कहा ‘ना’

France-Pakistan: पाक पीएम इमरान खान(Pak PM Imran Khan) ने अभी हाल ही में फ्रांस(France) से मिराज और अगोस्ता सबमरीन को अपग्रेड करने लिए अनुरोध किया था। लेकिन इससे पहले ही इमरान ने धर्म का मजाक उड़ाने के अधिकार के बचाव में फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों की आलोचना भी की थी।

Avatar Written by: November 21, 2020 1:50 pm
Imran Khan

नई दिल्ली। पाकिस्तानी सेना को फ्रांस से उस वक्त तगड़ा झटका लगा जब पाक की तरफ से एयर डिफेंस सिस्टम, मिराज फाइटर जेट व अगोस्ता 90बी क्लास की सबमरीन को अपग्रेड करने का अनुरोध किया गया था लेकिन फ्रांस ने सीधे तौर पर इनकार कर दिया। बता दें कि इसके पीछे पाकिस्तान द्वारा फ्रांस राष्ट्रपति की आलोचना करना बताया जा रहा है। पाकिस्तान की करतूत के चलते फ्रांस नाराज चल रहा है, ऐसे में फ्रांस ने पाक के इस अनुरोध को खारिज कर दिया। गौरतलब है कि पैगंबर मोहम्मद कार्टून विवाद में तुर्की के इशारे पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों की आलोचना की थी। अब इससे नाराज होकर फ्रांस ने अपनी तरफ से यह फैसला लिया है। इतना ही नहीं, जेट्स को अपग्रेड करने से इनकारन करने के अलावा फ्रांस ने अपना खास लड़ाकू विमान राफेल खरीदने वाले देश कतर को पाकिस्तान मूल के तकनीशियनों को विमान पर काम करने की अनुमति नहीं देने को भी कहा है।

Imran Khan

ऐसा करने के पीछे की वजह मानी जा रहा है कि ऐसे लोग इस्लामाबाद को इस लड़ाकू विमान से जुड़ी तकनीकी जानकारी लीक कर सकते हैं। मालूम हो कि राफेल अब भारत का फ्रंट लाइनर लड़ाकू जेट है। वहीं पाकिस्तान का इतिहास रहा अतीत में चीन के साथ महत्वपूर्ण रक्षा डाटा साझा किया था।

France President

बता दें कि पाक पीएम इमरान खान ने अभी हाल ही में फ्रांस से मिराज और अगोस्ता सबमरीन को अपग्रेड करने लिए अनुरोध किया था। लेकिन इससे पहले ही इमरान ने धर्म का मजाक उड़ाने के अधिकार के बचाव में फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों की आलोचना भी की थी। इतना ही नहीं फ्रांस अपने यहां पाकिस्तान से शरण मांगने वाले नागरिकों को बहुत कड़ी जांच के बाद ही अनुमति दे रहा है।

पाकिस्तान की वायुसेना पर मिराज जेट को अपग्रेड नहीं करने के फ्रांसीसी सरकार के फैसले का गंभीर प्रभाव पड़ सकता है। पाकिस्तान के पास फ्रांसीसी कंपनी दसॉल्ट एविएशन द्वारा निर्मित लगभग 150 मिराज फाइटर जेट हैं। हालांकि उनमें से भी केवल आधे ही ऐसे हैं जो सेवा लेने के योग्य हैं। फ्रांसीसी-इतालवी वायुरक्षा प्रणाली को अपग्रेड करने के लिए इसी तरह के अनुरोध को भी फ्रांस द्वारा अस्वीकार कर दिया गया है।