Connect with us

दुनिया

China: जिनपिंग सरकार की बर्बरता आई सामने, लॉकडाउन के खिलाफ प्रदर्शन कवर करने वाले पत्रकार को जमकर पीटा

दरअसल, चीन में कोरोना के व्याप्त हुई दुश्वारियों को कवर कर रहे एक अंतरराष्ट्रीय मीडिया संगठन के पत्रकार के साथ चीनी पुलिस ने ना महज अभद्र व्यवहार किया, बल्कि मारपीट भी की। खबर है कि पुलिस ने पत्रकार और कैमरामैन को घंटों हिरासत में रखकर उनके साथ मारपीट की। जिसका वीडियो भी प्रकाश में आया है।

Published

नई दिल्ली। चीन के कई शहरों में एक बार फिर कोरोना ने आफत मचानी शुरू कर दी है। आलम यह है कि कोरोना के कहर का शिकार होने के बाद लोग त्राहि-त्राहि कर रहे हैं। कोरोना के आगे नतमस्तक हो चुकी शी जिनपिंग हुकूमत को कुछ नहीं सूझा तो देशभर में लॉकाडउन का ही ऐलान कर दिया। अब आलम यह है कि गली-मोहल्ले, चौक चौराहे सब कुछ वीरानगी की चपेट में आ चुके हैं। जिसका खामियाजा वहां के लोगों को भुगतना पड़ रहा है। लिहाजा अब लोग सड़कों पर उतरकर जिनपिंग हुकूमत के खिलाफ विरोध कर रहे हैं।

हम क्या चाहते आजादी... क्यों चीन में बीजिंग से शंघाई तक गूंज रहे शी जिनपिंग सरकार के खिलाफ नारे

जिनपिंग से इस्तीफा देने की मांग कर रहे हैं। लोग चीन सरकार द्वारा लगाए गए बंदिशों का विरोध कर रहे हैं। यही नहीं, चीन में कोरोना द्वारा वर्मतान में मचाई गई आफात का कसूरवार भी लोग जिनपिंग हुकूमत को ही मान रहे हैं। अब ऐसे में चीनी सरकार आगामी दिनों में क्या कुछ कदम उठाती है। यह तो फिलहाल आने वाला वक्त ही बताएगा, लेकिन उससे पहले उपरोक्त प्रकरण को लेकर बड़ी खबर सामने आई है। आइए, आपको इसके बारे में विस्तार से बताते हैं।

china zero covid policy people protesting in shanghai beijing anti lockdown rally China Protest: कोविड पॉलिसी पर लगातार दूसरे दिन शी जिनपिंग के खिलाफ कई बड़े शहरों में प्रदर्शन, सोशल मीडिया पर बढ़ी निगरानी

दरअसल, चीन में कोरोना के व्याप्त हुई दुश्वारियों को कवर कर रहे एक अंतरराष्ट्रीय मीडिया संगठन के पत्रकार के साथ चीनी पुलिस ने ना महज अभद्र व्यवहार किया, बल्कि मारपीट भी की। खबर है कि पुलिस ने पत्रकार और कैमरामैन को घंटों हिरासत में रखकर उनके साथ मारपीट की। जिसका वीडियो भी प्रकाश में आया है। बता दें कि मामले का वीडियो प्रकाश में आने के बाद अब चीन की कड़ी निंदा की जा रही है। हालांकि, यह कोई पहली मर्तबा नहीं है कि जब चीन ने किसी पत्रकार के साथ अभद्र व्यवहार किया है, बल्कि इससे पहले भी चीनी सरकार द्वारा पत्रकारों के साथ अभद्र व्यवहार किए जा चुके हैं, जो कि गंभीर मुद्दा है। कई बार इस मसले को लेकर चीन सवालों के घेरे में आ चुका है।

आपको बता दें कि वर्तमान में कोरोना चीन में आफत मचा रखी है। चीनी मीडिया के मुताबिक गत 24 घंटे में कोरोना के 40 हजार से भी अधिक मामले दर्ज किए गए हैं और आगामी दिनों में इन मामले में तेजी दर्ज किए जाने की पूरी संभावना है। हालांकि, चीन सरकार कोरोना पर काबू पाने की दिशा में पूरी रूपरेखा तैयार कर चुकी है। नियम समय में इस रूपरेखा तो जीवंत किया जाएगा। लेकिन, वर्तमान में जिस तरह चीन सरकार का विरोध किया जा रहा है, उससे कम्युनिस्ट पार्टी कैसे निपटती है। इस पर सभी की निगाहें टिकी रहेंगी।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement