अमेरिकी विशेषज्ञ ने ‘कोविड-19’ की उत्पत्ति में साजिश की बात खारिज की

अमेरिका के महामारी विज्ञानविद् ने साजिश के तहत नोवल कोरोनावायरस की उत्पत्ति के सिद्धांत को खारिज कर दिया है।

Avatar Written by: February 24, 2020 10:54 am

सैन फ्रांसिस्को।  अमेरिका के महामारी विज्ञानविद् ने साजिश के तहत नोवल कोरोनावायरस की उत्पत्ति के सिद्धांत को खारिज कर दिया है। उन्होंने कहा कि यह वायरस ‘जानवरों से स्वाभाविक रूप से लोगों तक’ फैला है, न कि ‘कुछ जैविक हथियार अनुसंधान के लिए बनाया गया’ है।

Coronavirus china

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय, बर्कले (यूसी बर्कले) के महामारी विज्ञानविद् ऑर्थर रींगगोल्ड के बयान का हवाला देते हुए कहा, “मैं उस सिद्धांत को खारिज करता हूं। हम जितना जानते हैं उसके आधार पर यह संभावना ज्यादा है कि यह ऐसा वायरस है जो जानवर में उत्पन्न हुआ और फिर लोगों में फैला, जैसे कि सार्स (सेवर एक्यूट रेस्पिरेटॉरी सिंड्रोम) और मर्स (मिडिल ईस्ट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम)।”

srilanka corona virusइस वायरस के फैलने के दौरान कुछ अमेरिकी राजनेताओं ने इसे लेकर अफवाह फैलाया था। सीनेटर टॉम कॉटन ने हाल ही में कहा था कि ऐसा हो सकता है कि कोरोनावायरस चीन में एक जैविक प्रयोगशाला में बनाया गया होगा।

corona virus china
संक्रामक रोगों के रोकथाम और नियंत्रण के लिए खुद को समर्पित कर चुके यूसी बर्कले में महामारी विज्ञान और बायोस्टैटिस्टिक्स के डिवीजन प्रमुख, रींगोल्ड ने कहा, “मुझे बिल्कुल भी ऐसा नहीं लगता कि इसे किसी बायोलॉजिकल वेपन रिसर्च में बनाया गया होगा। मेरा मानना है कि यह स्वाभाविक रूप से जानवरों से लोगों में फैला है।”
corona virus
वहीं वॉशिंगटन स्थित संगठन नेशनल फाउंडेशन फॉर इनफेक्शियस डिजीज के मेडिकल डायरेक्टर विलियम शेफनर की राय भी यही है। उन्होंने कहा, “जहां तक मुझे पता है, किसी भी प्रतिष्ठित वैज्ञानिक ने यह प्रश्न नहीं उठाया है। कुछ वैज्ञानिक आंकड़े हैं, जो संकेत देंगे कि यह एक प्राकृतिक घटना है जैसा कि सार्स और मार्स थे।”

 

Support Newsroompost
Support Newsroompost