जनता कर्फ्यू के चलते शाहीन बाग में बैठी हैं 5 महिलाएं, जिसमें शामिल हैं दादी और नानी

दिल्ली पुलिस ने प्रदर्शनकारियों से अपील की है कि पूरे देश में कोरोनावायरस फैल रहा है , इसलिए वो प्रदर्शन बंद कर दें। कम से कम जनता कर्फ्यू वाले दिन प्रदर्शन नहीं करें।

Written by: March 22, 2020 12:14 pm

नई दिल्ली। कोरोना के प्रकोप के बीच पीएम मोदी की अपील पर रविवार को देशभर में जहां जनता द्वारा कर्फ्यू लगाया गया है तो वहीं दिल्ली के शाहीन बाग में भी इसका असर देखने को मिला है। बता दें कि कोरोना से फैले भय के माहौल में भी शाहीन बाग में प्रोटेस्ट तो चल रहा है लेकिन लोगों की तादाद अब ज्यादा नहीं है।

janta cerfew delhi 2

बता दें कि जनता कर्फ्यू के चलते शाहीन बाग में सिर्फ 5 लोगों को धरने पर बैठने की इजाजत मिली है। जूता चप्पल अलग रखा गया है। जरूरी सुरक्षा के उपाय किए गए हैं। महिलाओं को हमजत सूट पहनने को कहा गया, हमजत सूट से बॉडी पूरी तरह ढकी हुई होती है। प्रोटेस्ट में 5 लोगों को बैठने की इजाजत है जिसमें दादी और नानी शामिल हैं।

Shaheen bag janta curfew

इससे पहले दिल्ली पुलिस ने शनिवार को इंडिया इस्लामिक सेंटर में शाहीनबाग के प्रदर्शनकारियों के साथ मिलकर बैठक की थी। यहां पर दिल्ली पुलिस ने कोरोना वायरस के बढ़ते प्रसार को देखते हुए लोगों से प्रदर्शन खत्म करने की अपील की थी। इस बैठक में डीसीपी साउथ ईस्ट समेत दिल्ली पुलिस के कई सीनियर ऑफिसर भी मौजूद थे। वहीं प्रदर्शनकारियों की तरफ से इंडिया इस्लामिक सेंटर के प्रेसिडेंट सिराजुद्दीन, सेक्रेटरी बदरुद्दीन और शाहीनबाग में प्रदर्शन करने वाले 7 प्रदर्शनकारियों ने भी इस बैठक में हिस्सा लिया।

Shaheen bag janta curfew 5

दिल्ली पुलिस ने प्रदर्शनकारियों से अपील की है कि पूरे देश में कोरोनावायरस फैल रहा है , इसलिए वो प्रदर्शन बंद कर दें। कम से कम जनता कर्फ्यू वाले दिन प्रदर्शन नहीं करें। इंडिया इस्लामिक सेंटर के सदस्यों ने भी पुलिस का समर्थन किया।