Prophet Row: नूपुर शर्मा मामले में इस्लामी देश दिखा रहे थे तेवर, अब मोदी सरकार से कह रहे हमें दे दो गेहूं

अब इन देशों की ओर से भारत से गेहूं मांगे जाने से खुलासा हो गया है कि किस तरह नूपुर और पैगंबर का नाम लेकर दुनिया में भारत को बदनाम करने की साजिश रची गई और इस्लामी देशों का हवाला देकर भारत के मुसलमानों को उकसाकर हिंसा कराई गई।

Avatar Written by: June 13, 2022 9:56 am
Wheat

नई दिल्ली। बीते दिनों पैगंबर विवाद में कूदकर भारत से नाराजगी जता रहे इस्लामी देश अब गेहूं के लिए गुहार लगा रहे हैं। पांच इस्लामी देशों ने भारत से गेहूं मांगा है। इस बारे में अभी मोदी सरकार ने फैसला नहीं लिया है। गेहूं के निर्यात पर अभी रोक लगी हुई है, लेकिन माना जा रहा है कि भारत इन देशों को मानवता के नाते गेहूं निर्यात करने का फैसला लेगा। जिन देशों ने भारत से गेहूं मांगा है, उनमें इंडोनेशिया, ओमान, संयुक्त अरब अमीरात यानी UAE, यमन और बांग्लादेश हैं। इनमें से बांग्लादेश को छोड़कर हर इस्लामी देश ने नूपुर शर्मा मामले में मोदी सरकार और भारत से नाराजगी जताई थी।

modi in uae

इस्लामी देशों की नाराजगी के बाद नूपुर के मामले में मोदी सरकार और बीजेपी को घेर रहे तमाम लोगों ने ये टिप्पणियां भी की थीं कि अगर इस्लामी देश हमसे सामान न लें, तो क्या होगा। तमाम सोशल मीडिया हैंडल्स पर इस तरह की फर्जी खबरें भी वायरल की गईं कि इस्लामी देशों के मॉल्स से भारतीय सामान को हटा दिया गया है, लेकिन अब इन देशों की ओर से भारत से गेहूं मांगे जाने से खुलासा हो गया है कि किस तरह नूपुर और पैगंबर का नाम लेकर दुनिया में भारत को बदनाम करने की साजिश रची गई और इस्लामी देशों का हवाला देकर भारत के मुसलमानों को उकसाकर हिंसा कराई गई।

nupur sharma

बता दें कि नूपुर शर्मा ने एक टीवी डिबेट में पैगंबर मोहम्मद और उनकी पत्नी बीबी आयशा के बारे में कथित तौर पर विवादित टिप्पणी की थी। इसी को आधार बनाकर अचानक सोशल मीडिया पर हंगामा बरपा और फिर इस्लामी देशों ने इस मामले में अपने यहां भारतीय दूतों को बुलाकर उनसे नाराजगी जताई। इसके ठीक बाद 3 और 10 जून को भारत में विरोध प्रदर्शनों के दौरान कई शहरों में जमकर हिंसा हुई थी।

Latest