रामजन्मभूमि में मिल रही मूर्तियों पर हिंदू महासभा ने कहा, ये हमें हिंदू तालिबान कहने वालों को करारा जवाब

हिंदू महासभा के वकील विष्णु जैन ने कहा, ‘सुप्रीम कोर्ट में बहस के दौरान हम पर मुस्लिम पक्ष ने हिंदू तालिबान का आरोप लगाया था और कहा था कि वहां पर मंदिर के कोई अवशेष नहीं है। पुरातात्विक मूर्तियां का मिलना यह उन आरोपों का जवाब है, जो हम सुप्रीम कोर्ट में बहस करते चले आ रहे थे।’

Avatar Written by: May 21, 2020 4:34 pm

नई दिल्ली। अयोध्या में राम जन्मभूमि परिसर में चल रहे समतलीकरण के दौरान राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट को कई पुरातात्विक मूर्तियां खंभे और शिवलिंग मिले हैं। 4 फीट से बड़ा एक शिवलिंग उस हिस्से से मिला है, जहां मलबा को हटाने और समतलीकरण का काम चल रहा था। मूर्तियां मिलने के बाद हिंदू महासभा के वकील विष्णु जैन का बयान सामने आया है। विष्णु जैन का कहना है कि ये प्राचीन मूर्तियां सभी लगाए गए आरोपों का जवाब है।

हिंदू महासभा के वकील विष्णु जैन ने कहा, ‘सुप्रीम कोर्ट में बहस के दौरान हम पर मुस्लिम पक्ष ने हिंदू तालिबान का आरोप लगाया था और कहा था कि वहां पर मंदिर के कोई अवशेष नहीं है। पुरातात्विक मूर्तियां का मिलना यह उन आरोपों का जवाब है, जो हम सुप्रीम कोर्ट में बहस करते चले आ रहे थे।’

एक न्यूज चैनल से बातचीत में हिंदू महासभा के वकील विष्णु जैन ने कहा, ‘सुप्रीम कोर्ट को हमने बताया था कि वहां (राम जन्मभूमि) परिसर में कई सारे मंदिरों के अवशेष हैं। एक शिवलिंग एएसआई को पहले भी मिला था, जब पहले खुदाई का आदेश हुआ था। वहां पर भव्य मंदिर था, इसलिए सुप्रीम कोर्ट ने हमें वही जगह दी है।’

vishnu jain advocate

हिंदू महासभा के वकील विष्णु जैन ने कहा, ‘एएसआई की रिपोर्ट में बताया गया था कि वहां पर कई सारे मंदिर के अवशेष हैं. बाबरी मस्जिद के नीचे राम मंदिर का बहुत बड़ा स्ट्रक्चर था। आज मिले पुरातात्विक सबूत बताते हैं कि हमने सुप्रीम कोर्ट के सामने जो तर्क रखा था, वह कितना मजबूत था।’

समतलीकरण में मिले ये पुरावशेष

बता दें कि अभी राम मंदिर निर्माण के लिए जो समतलीकरण किया जा रहा है, उसमें कई पुरातात्विक अवशेष मिले हैं। इनमें देवी-देवताओं की खंडित मूर्तियां, पुष्प, कलश, आमलक, दोरजांब, विभिन्न प्रकार की कलाकृतियां, मेहराब के पत्थर, सात ब्लैक टच स्टोन के स्तंभ, आठ रेड सैंड स्टोन के स्तंभ, पांच फीट आकार की नक्काशी युक्त शिवलिंग की आकृति आदि पुरातात्विक वस्तुएं प्राप्त हुईं हैं।