अब तक एक करोड़ प्रवासी मजदूरों को घर पहुंचाया गया, केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट को बताया

सरकार के मुताबिक केंद्र की ओर से सभी राज्यों को लिखा गया है कि वे बतायें कि उन्हें अपने लोगों के लिए कितने ट्रेनों की जरूरत है? राज्य सरकारों की मांग के मुताबिक उन्हें 24 घंटे के भीतर ट्रेनें उपलब्ध कराई जा रही हैं। केंद्र ने बताया कि सबसे अधिक श्रमिक स्पेशल ट्रेन यूपी और बिहार गयी हैं।

Avatar Written by: June 5, 2020 5:54 pm

नई दिल्ली। केंद्र सरकार में प्रवासी मजदूरों की घर वापसी के बारे में अहम जानकारी दी है। केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि 3 जून तक 4228 ट्रेनें चलाई गयीं हैं। इस दौरान बसों और ट्रेनों से करीब 1 करोड़ लोगों को उनके घरों तक पहुंचाया गया है।

supreme-court-of-india

केंद्र ने आगे का प्लान भी बताया है। सरकार ने बताया कि अभी 171 ट्रेनों को और चलाने की जरूरत है। सरकार के मुताबिक केंद्र की ओर से सभी राज्यों को लिखा गया है कि वे बतायें कि उन्हें अपने लोगों के लिए कितने ट्रेनों की जरूरत है? राज्य सरकारों की मांग के मुताबिक उन्हें 24 घंटे के भीतर ट्रेनें उपलब्ध कराई जा रही हैं। केंद्र ने बताया कि सबसे अधिक श्रमिक स्पेशल ट्रेन यूपी और बिहार गयी हैं।

सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि अभी तक करीब 1 करोड़ प्रवासी मजदूरों को घर पहुंचाया गया है जिसमे बसों के जरिये 41 लाख और ट्रेन के जरिये 57 लाख मजदूरों को उनके गृह राज्य भेजा गया। उन्होंने बताया कि 802 ट्रेन पहले ही महाराष्ट्र से चलाई जा चुकी हैं।