Connect with us

देश

Lucknow: संतों-पुरोहितों को मानदेय देने वाला पहला राज्य बनेगा यूपी, सीएम योगी ने किया था वादा

इसके अलावा योगी ने निर्देश दिया है कि यूपी के स्थापना दिवस की तरह सूबे के हर जिले का भी स्थापना दिवस मनाया जाए। इस दौरान जिले के हर शहर और गांव में एकता और सौहार्द बढ़ाने के लिए कार्यक्रम किए जाएंगे। योगी ने सूबे में भ्रष्टाचार पर प्रभावी अंकुश लगाने के लिए भी खास पोर्टल बनाने का निर्देश दिया।

Published

on

yogi adityanath

लखनऊ। यूपी की सत्ता दोबारा संभालने के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ लगातार बीजेपी के संकल्प पत्र में किए गए वादों को तेजी से पूरा करने में जुटे हैं। इसी कड़ी में अब उन्होंने शासन के अफसरों से जल्द से जल्द पुरोहित कल्याण बोर्ड बनाने के लिए कहा है। इस बोर्ड के बन जाने के बाद यूपी के बुजुर्ग संतों और पुजारियों को मानदेय मिलेगा। पुजारियों को मानदेय देने वाला यूपी पहला राज्य भी बन जाएगा। योगी ने इसके अलावा गोरखपुर, मथुरा, प्रयागराज और वाराणसी में भजन संध्या स्थल बनाने के निर्देश भी दिए। योगी ने ये सारे वादे विधानसभा चुनाव के दौरान किए थे।

पर्यटन विभाग ने बुधवार को योगी के सामने प्रेजेंटेशन दिया था। इसके बाद ही योगी ने सारे निर्देश जारी किए। उन्होंने इसके साथ ही एकीकृत मंदिर सूचना प्रणाली बनाने के लिए कहा। इस प्रणाली के जरिए श्रद्धालुओं को पोर्टल के माध्यम से यूपी में स्थित सभी तीर्थस्थलों के बारे में जानकारी मिलने के साथ ही वहां तक पहुंचने के सुगम रास्ते का भी पता चल सकेगा। ये भी श्रद्धालु जान सकेंगे कि किसी तीर्थस्थल पर वो कहां रुक सकते हैं और प्रणाली के जरिए ही वो ठहरने की जगह की बुकिंग भी आसानी से करा सकेंगे।

इसके अलावा योगी ने निर्देश दिया है कि यूपी के स्थापना दिवस की तरह सूबे के हर जिले का भी स्थापना दिवस मनाया जाए। इस दौरान जिले के हर शहर और गांव में एकता और सौहार्द बढ़ाने के लिए कार्यक्रम किए जाएंगे। योगी ने सूबे में भ्रष्टाचार पर प्रभावी अंकुश लगाने के लिए भी खास पोर्टल बनाने का निर्देश दिया। उन्होंने इसके लिए राजस्व विभाग को काम करने के लिए कहा। साथ ही 50 अफसरों का पैनल भी बनाया जाएगा। ये पैनल भ्रष्टाचार की शिकायतों की जांच करेगा।

Advertisement
Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Advertisement