Udit Raj: कांग्रेस नेता उदित राज ने मदरसा बंद करने के फैसले को कुंभ मेले से जोड़ा, भाजपा ने किया पलटवार

असम (Assam) में मदरसे (Madrassa) बंद करने के फैसले को लेकर काफी विरोध हो रहा है। इसी बीच कांग्रेस नेता उदित राज (Udit Raj) एक बार फिर विवादित बयान देकर सुर्खियों में आ गए हैं। उन्होंने कुंभ मेले की तुलना मदरसे से कर दी जिसके बाद बीजेपी (BJP) ने कांग्रेस पर पलटवार किया।

Avatar Written by: October 15, 2020 4:05 pm
udit raj sambit patra

नई दिल्ली। असम (Assam) के शिक्षा मंत्री हेमंत बिस्वा सरमा (Himanta Biswa Sarma) ने मदरसे (Madrassa) बंद करने को लेकर कहा है कि सरकारी पैसे पर कुरान (Quran) की पढ़ाई नहीं कराई जा सकती। उन्होंने कहा कि नवंबर में सभी राज्य संचालित मदरसों और संस्कृत स्कूलों को बंद करने के बारे में एक अधिसूचना जारी की जाएगी। जिसके बाद इस फैसले का काफी विरोध किया जा रहा है। इसी बीच कांग्रेस नेता उदित राज (Udit Raj) एक बार फिर विवादित बयान देकर सुर्खियों में आ गए हैं। उन्होंने कुंभ मेले की तुलना मदरसे से कर दी जिसके बाद बीजेपी (BJP) ने कांग्रेस पर पलटवार किया।

दरसल, उदित राज ने कुंभ मेले के आयोजन में सरकारी पैसे के इस्तेमाल पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने गुरुवार को ट्वीट करके कहा कि असम सरकार ने सरकारी फंड से मदरसे न चलाने का निर्णय किया है उसी तरह यूपी सरकार को कुंभ मेले के आयोजन पर 4200 करोड़ रुपये नहीं खर्च करने चाहिए। हालांकि विवाद बढ़ने पर उदित राज ने वो ट्वीट डिलीट कर दिया।

विवाद बढ़ते देख अब उन्होंने एक न्यूज चैनल से बातचीत में अपनी सफाई दी और कहा, ”राज्य का कोई धर्म नहीं होता। सभी को बराबर मानना चाहिए। किसी के साथ भेदभाव नहीं होना चाहिए। इस संदर्भ में मैंने कुंभ मेले के खर्च का उदाहरण दिया।”

Sambit Patra Congress

उधर, कांग्रेस नेता के इस बयान पर बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने जोरदार हमला बोला है। उन्होंने कहा, ”मित्रों ये है गांधी परिवार की सच्चाई। पहले अफिडेविट देकर सुप्रीम कोर्ट में कहा था ‘भगवान श्री राम मात्र काल्पनिक है..उनका कोई अस्तित्व नहीं और अब प्रियंका वाड्रा जी का कहना है की कुंभ मेला भी बंद होना चाहिए! तभी तो दुनिया कहती है राहुल और प्रियंका ‘सुविधा-वादी’ हिंदू है।”

वहीं, कुंभ की तुलना मदरसे से करने पर बीजेपी कांग्रेस पर आक्रामक हो गई है। जम्मू-कश्मीर के भाजपा अध्यक्ष रविंद्र रैना का कहना है कि राहुल गांधी इसके लिए माफी मांगे।

Support Newsroompost
Support Newsroompost