हद पार कर रहे हैं तबलीगी जमात के कोरोना संदिग्‍ध, डॉक्‍टरों पर थूक रहे हैं तो कहीं खाने में मांग रहे वैरायटी…

दिल्‍ली के निजामुद्दीन मरकज से तबलीगी जमात के कोरोना संक्रमण संदिग्‍धों को ले जाकर तुगलकाबाद में क्‍वारंटीन सेंटर (पृथक केंद्र) में रखा गया है।

Written by: April 1, 2020 9:39 pm

नई दिल्ली। दिल्‍ली के निजामुद्दीन मरकज से तबलीगी जमात के कोरोना संक्रमण संदिग्‍धों को ले जाकर तुगलकाबाद में क्‍वारंटीन सेंटर (पृथक केंद्र) में रखा गया है। पहले ये लोग निजामुद्दीन मरकज को छोड़कर जाने को तैयार नहीं थे और अब ये लोग क्‍वारंटीन सेंटर में उनका इलाज कर रहे डॉक्‍टरों और अन्‍य कर्मचारियों को भी परेशान कर रहे हैं।

Delhi Markaj

उत्‍तर रेलवे के सीपीआरओ की मानें तो ये सभी लोग पृथक केंद्र में जगह-जगह थूक रहे हैं। इसके साथ ही ये डॉक्‍टरों और कर्मचारियों पर भी थूक रहे हैं। बता दें कि कोरोना वायरस संक्रमित या संदिग्‍ध लोगों के थूकने से इसके संक्रमण के प्रसार का खतरा कई गुना बढ़ जाता है।

markaz

सीपीआरओ के मुताबिक ये लोग बुधवार सुबह से ही खराब बर्ताव कर रहे हैं। ये सभी खाने-पीने की अनावश्‍यक चीजों की मांग कर रहे हैं। ये सभी लोग उनके इलाज में जुटे डॉक्‍टरों और उनकी देखरेख कर रहे कर्मचारियों के साथ बुरा बर्ताव कर रहे हैं। वे सभी क्‍वारंटीन सेंटर में जगह-जगह थूक रहे हैं। वह रोक के बावजूद हॉस्‍टल में घूमने लगते हैं।

corona

साउथ ईस्ट दिल्ली के डीएम को उन्हें नियंत्रित करने के लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम या किसी सुरक्षित सुरक्षित जगह पर शिफ्ट करने के लिए कहा गया था। शाम 5:30 बजे दिल्ली पुलिस के 4 सिपाही और 6 सीआरपीएफ जवानों के साथ पीसीआर वैन को क्वारंटाइन केंद्रों पर तैनात किया गया।

सड़कों पर भी थूक रहे थे

Maulana Saad

तबलीगी जमात के इन 167 कोरोना संदिग्‍धों को मंगलवार रात को 5 बसों से निजामुद्दीन मरकज से दिल्‍ली के तुगलकाबाद स्थित क्‍वारंटीन सेंटर ले जाया गया है। इनमें से 97 लोगों को डीजल शेड ट्रेनिंग हॉस्‍टल के क्‍वारंटीन सेंटर और 70 को आरपीएफ बैरक क्‍वारंटीन सेंटर में रखा गया है। बता दें कि ये सभी निजामुद्दीन मरकज से क्‍वारंटीन सेंटर ले जाए जाने के दौरान सड़कों पर भी थूक रहे थे। इन्‍हें थूकने से रोकने के लिए बसों के शीशे भी बंद करने पड़े थे।

संक्रमण के मामले बढ़ने में मरकज प्रमुख वजह

Ministry of Health Lav Agarwal

स्वास्थ्य मंत्रालय ने देश में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना वायरस के संक्रमण के 386 नये मामलों की पुष्टि और इससे तीन लोगों की मौत होने की जानकारी देते हुए बुधवार को बताया कि कोविड-19 के मामलों में वृद्धि राष्ट्रीय स्तर पर संक्रमण फैलने की दर को नहीं दर्शाती, बल्कि इस बढ़ोतरी में निजामुद्दीन (पश्चिम) में हुआ एक आयोजन प्रमुख वजह रहा।