Connect with us

देश

Hate Speech: हेट स्पीच मामले में घिरे आजम खान पर आज कोर्ट सुना सकता है फैसला, दोषी पाए जाने पर जेल जाने की आएगी नौबत

आजम खान पर यूपी की योगी सरकार के दौर में 90 से ज्यादा केस दर्ज हुए हैं। कई मामलों की वजह से आजम खान को 22 महीने सीतापुर की जेल में भी रहना पड़ा था। सरकारी संपत्ति को हड़पने से लेकर बकरी चोरी तक के आरोप आजम खान पर लगे हैं। बड़ी मशक्कत के बाद सुप्रीम कोर्ट से आजम को जमानत मिल सकी थी।

Published

azam khan thinking

रामपुर। समाजवादी पार्टी (सपा) के विधायक आजम खान एक बार फिर जेल जा सकते हैं। मामला हेट स्पीच का है। रामपुर की विशेष एमपी-एमएलए कोर्ट इस मामले में आज फैसला सुना सकती है। आजम खान पर भड़काऊ भाषण देने का आरोप बीजेपी के नेता आकाश सक्सेना ने लगाकर केस दर्ज कराया था। कोर्ट में इस मामले की सुनवाई पूरी हो चुकी है। कोर्ट ने आज यानी 27 अक्टूबर को अगली तारीख तय की थी। भड़काऊ भाषण देने का आजम पर आरोप साल 2019 का है। लोकसभा चुनाव के दौरान आजम ने कथित तौर पर मिलक विधानसभा इलाके में जनसभा के दौरान आपत्तिजनक और भड़काऊ बातें की थीं। मिलक थाने में इस मामले में केस दर्ज कराया गया था।

Azam Khan

इस मामले में आजम खान के वकील विनोद शर्मा हैं। विनोद शर्मा के मुताबिक एफआईआर में जिन भाषणों के बारे में कहा गया है, वे आजम के भाषण ही नहीं हैं। शर्मा ने कहा कि ये सारे फर्जी तरीके से बनाए गए और साबित भी नहीं हो सके हैं। अभियोजन के तर्कों पर आजम की तरफ से जो सवाल उठाए गए, उनका जवाब भी नहीं मिल सका। विनोद शर्मा के मुताबिक आजम खान के खिलाफ राजनीतिक द्वेष के कारण फर्जी मुकदमा तैयार किया गया। उन्होंने दावा किया कि इस मामले में आजम को कोर्ट बरी कर देगा।

Azam Khan

बता दें कि आजम खान पर यूपी की योगी सरकार के दौर में 90 से ज्यादा केस दर्ज हुए हैं। कई मामलों की वजह से आजम खान को 22 महीने सीतापुर की जेल में भी रहना पड़ा था। सरकारी संपत्ति को हड़पने से लेकर बकरी चोरी तक के आरोप आजम खान पर लगे हैं। बड़ी मशक्कत के बाद सुप्रीम कोर्ट से आजम को जमानत मिल सकी थी। बीते दिनों उनको दिल का दौरा भी पड़ा था। जिसकी वजह से आजम गुड़गांव के मेदांता अस्पताल में दाखिल रहे थे।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement