कोरोनावायरसः डॉ. हर्षवर्धन ने दी अच्छी खबर, बताया भारत में कितने मरीजों को पड़ रही वेंटिलेटर की जरूरत

इस बैठक में डॉ हर्षवर्धन ने कहा, “भारत में कोरोना के 1 मिलियन से ज्यादा मामलों में रिकवरी हुई है, जिससे रिकवरी दर 64.5% हो गयी है।

Avatar Written by: July 31, 2020 6:42 pm

नई दिल्ली। केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने वीडियो-कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कोविड-19 पर उच्च स्तरीय ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स की 19वीं बैठक की अध्यक्षता की। इस बैठक में डॉ हर्षवर्धन ने कहा, “भारत में कोरोना के 1 मिलियन से ज्यादा मामलों में रिकवरी हुई है, जिससे रिकवरी दर 64.5% हो गयी है। इससे पता चलता है कि चिकित्सा पर्यवेक्षण के तहत एक्टिव मामले कुल पॉजिटिव मामलों के केवल 33.27% या लगभग एक तिहाई हैं। भारत की केस फैटलिटी दर भी उत्तरोत्तर कम हो रही है और वर्तमान में 2.18% है, जो विश्व स्तर पर सबसे कम है।”

DR harshvardhan

भारत में पाए जाने वाले मामलों की गंभीरता पर बोलते हुए डॉ. हर्षवर्धन ने कहा, “देश में कुल एक्टिव मामलों में से केवल 0.28% रोगी वेंटिलेटर पर हैं, 1.61% मरीजों को ICU की जरूरत है और 2.32% को ऑक्सीजन की आवश्यकता है।”

इस बैठक में पीपीए, मास्क, वेंटिलेटर और एचसीक्यू जैसी ड्रग्स के निर्माण के लिए विभिन्न क्षेत्रों की घरेलू उत्पादन क्षमताओं में बढ़ोतरी के लिए भी ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स को अवगत कराया गया। बैठक में हर्षवर्धन ने कहा कि हेल्थकेयर लॉजिस्टिक्स के लिहाज से, कुल मिलाकर 268.25 लाख एन 95 मास्क, 120.40 लाख पीपीई किट और 1083.77 लाख एचसीक्यू टैबलेट राज्यों/संघ राज्य क्षेत्रों और केंद्रीय संस्थानों को वितरित किए गए हैं।

इस बैठक में भारत के विभिन्न राज्यों के रिकवरी दर डाटा भी शो किये गये। इसके मुताबिक राजधानी दिल्ली में रिकवरी दर 89.08% दर्ज की गई, उसके बाद 79.82% के साथ हरियाणा का स्थान रहा। कर्नाटक में सबसे कम रिकवरी रेट 39.36% दर्ज किया गया है। निदेशक एनसीडीसी ने शीर्ष 12 राज्यों (महाराष्ट्र, तमिलनाडु, दिल्ली, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, गुजरात, तेलंगाना, बिहार, राजस्थान और असम) में वृद्धि दर के बारे में भारत सरकार को जानकारी दी।