Connect with us

देश

Modi 72th B’day: स्टैच्यू ऑफ यूनिटी से लेकर काशी कॉरिडोर तक PM मोदी ने देश को दी ये सौगातें, अब सेंट्रल विस्टा की बारी

Modi 72th B’day: बीजेपी के तमाम नेताओं और मंत्रिमंडल के सहयोगियों के अलावा कांग्रेस नेता राहुल गांधी और शशि थरूर ने भी मोदी को बधाई दी है। अब चलिए जानते हैं पीएम बनने के बाद नरेंद्र मोदी ने देश को कितनी और कौन सी सौगातें दी हैं।

Published

on

नई दिल्ली। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आज 72वां जन्मदिन है। हालांकि अपने इस खास पर दिन भी मोदी मौज-मस्ती या पार्टीबाजी नहीं करेंगे। वो दिन भर काम करेंगे और कई कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे। पहले तो अपने जन्मदिन के मौके पर मोदी पहले मध्यप्रदेश जाएंगे। वहां कूनो नेशनल पार्क में वो नामीबिया से लाए जा रहे 8 चीतों को उनके बाड़ों में छोड़ेंगे। चीतों को खास विमान से नामीबिया से मध्यप्रदेश के ग्वालियर लाया जा रहा है। वहां से वायुसेना के चिनूक हेलीकॉप्टर के जरिए उनको कूनो नेशनल पार्क लाया जाएगा। चीतों को पहले 30 दिन तक क्वॉरेंटीन रखा जाना है। इसके लिए उनको छोटे बाड़ों में रखा जाएगा। 30 दिन बाद बड़े बाड़े में शिफ्ट किया जाएगा। इस ऐतिहासिक कार्यक्रम के दौरान पीएम मोदी वन्य जीव संरक्षण और पर्यावरण पर अपनी राय देश से साझा करेंगे।

modi13

17 सितंबर से 2 अक्टूबर तक कई कार्यक्रमों का आयोजन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन को यादगार बनाने के लिए भारतीय जनता पार्टी द्वारा कई तरह के कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। यूपी बीजेपी ने 17 सितंबर से 2 अक्टूबर यानी गांधी जयंती तक के मौके को सेवा पखवाड़ा मनाने का ऐलान किया है। यूपी बीजेपी ने इस दौरान होने वाले कार्यक्रमों की भी लिस्ट जारी की गई है। पीएम मोदी के जन्मदिन पर उन्हें उनके लिए बधाइयों का तांता लगा है। बीजेपी के तमाम नेताओं और मंत्रिमंडल के सहयोगियों के अलावा कांग्रेस नेता राहुल गांधी और शशि थरूर ने भी मोदी को बधाई दी है। अब चलिए जानते हैं पीएम बनने के बाद नरेंद्र मोदी ने देश को कितनी और कौन सी सौगातें दी हैं।

काशी विश्वनाथ कॉरिडोर

काशी विश्वनाथ कॉरिडोर- वाराणसी का काशी विश्वनाथ कॉरिडोर जो की 5 लाख वर्ग मीटर का है। इसमें 600 करोड़ रुपए खर्च किए गए। 2700 कारीगरों ने रोजाना काम किया। मेन गेट में मिर्जापुर का चुनार स्टोन और फ्लोरिंग में राजस्थान का मकराना मार्बल है। जुलाई 2020 में इसका काम शुरू होने पर पीएम मोदी ने कहा था कि दिसंबर 2021 तक ये पूरा हो जाना चाहिए।

नरेंद्र मोदी स्टेडियम

नरेंद्र मोदी स्टेडियम- नरेंद्र मोदी स्टेडियम जिसमें 1.32 लाख दर्शकों की क्षमता, 76 कॉर्पोरेट बॉक्स, 4 ड्रेसिंग रूम और 11 पिचें हैं। 25 मंजिला इस इमारत में उतनी उंची फ्लड लाइट्स हैं। इसे 800 करोड़ रूपए के खर्च में तैयार किया गया। 24 फरवरी 2021 को इसे पीएम मोदी का नाम दिया गया।

Sardar Patel Statue Of Unity

स्टैच्यू ऑफ यूनिटी- भारत के प्रथम उप प्रधानमन्त्री तथा प्रथम गृहमन्त्री वल्लभभाई पटेल को समर्पित ये एक स्मारक है। ये स्मारक गुजरात में स्थित है। 31 अक्टूबर 2013 को गुजरात के तत्कालीन मुख्यमन्त्री नरेन्द्र मोदी ने सरदार पटेल के जन्मदिवस के मौके पर इस विशालकाय मूर्ति के निर्माण का शिलान्यास किया था।

साबरमती रिवरफ्रंट

साबरमती रिवरफ्रंट- अहमदाबाद के साबरमती रिवरफ्रंट का काम साल 2005 से शुरू किया गया था। नरेंद्र मोदी के सीएम बनने के बाद इस प्रोजेक्ट का नया डिजाइन तैयार हुआ। 2012 तक इसे लोगों के लिए खोल दिया गया। 113 करोड़ की लागत से अब इसके फेज-2 का काम शुरू होगा।

सेंट्रल विस्टा

सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट- सेंट्रल विस्टा नई दिल्ली में स्थित भारत का केंद्रीय प्रशासनिक क्षेत्र है।ये दो हिस्सों में है, एक राजपथ का रिनोवेशन का और दूसरा है नया संसद भवन। 3.2 किनी के इस पूरे क्षेत्र को नया बनाया गया है। इंडिया गेट पर नेताजी सुभाष चंद्र बोस की प्रतिमा भी लगाई गई है। दोनों प्रोजेक्ट्स का अनुमानित खर्च 13,450 करोड़ रुपए है।

महात्मा मंदिर

महात्मा मंदिर- गांधीनगर स्थित महात्मा मंदिर 34 एकड़ में फैला सबसे बड़ा कॉन्फ्रेंस हॉल है। 15 हजार लोगों की क्षमता वाले इस हॉल में एक भी पिलर नहीं है। इसकी नींव में 18,066 गांवों की रेत डाली गई। इस मंदिर की नींव में गुजरात का 2010 तक का इतिहास बताने वाले टाइस कैप्सूल भी दफन है।

दांडी मेमोरियल

दांडी मेमोरियल- नवसारी का दांडी मेमोरियल जिसे IIT मुंबई ने डिजाइन किया। इस स्मारक में 130 फीट A शेप का स्टील फ्रेम, जो कि दो हाथों के जुड़े होने का प्रतीक है। 30 जनवरी 2019 को पीएम मोदी ने इसका लोकार्पण किया था।

Advertisement
Advertisement
Advertisement