जेएनयू हिंसा में गूगल और व्हाट्सअप का भी रोल तय, करना होगा पालन

जेएनयू हिंसा मामले में दिल्ली हाईकोर्ट ने आज एक बड़ा आदेश दिया। हाईकोर्ट ने व्हाट्सएप और गूगल को आदेश देते हुए कहा कि 5 जनवरी को JNU में हिंसा से संबंधित सोशल मीडिया का डेटा संरक्षित कर जांच के लिए उपलब्ध कराएं।

Written by: January 14, 2020 4:27 pm

नई दिल्ली। जेएनयू हिंसा मामले में दिल्ली हाईकोर्ट ने आज एक बड़ा आदेश दिया। हाईकोर्ट ने व्हाट्सएप और गूगल को आदेश देते हुए कहा कि 5 जनवरी को JNU में हिंसा से संबंधित सोशल मीडिया का डेटा संरक्षित कर जांच के लिए उपलब्ध कराएं।

delhi highcourt

कोर्ट ने दिल्ली पुलिस को निर्देश देते हुए कहा कि 5 जनवरी को हुई हिंसा के दौरान चर्चा में आए दो व्हाटस ग्रुप की पहचान की जाए। उनमें शामिल लोगों की पहचान कर उनके फोन जब्त कर जांच की जाएं। ये दोनों ग्रुप हैं, Unity against Left और Friends of RSS

दरअसल, JNU के तीन प्रोफेसर्स ने दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका दाखिल कर 5 जनवरी को JNU में हिंसा के दौरान का डेटा संरक्षित करने की मांग की है। कोर्ट ने याचिका का निपटारा करते हुए व्हाटस एप, गूगल और दिल्ली पुलिस को निर्देश जारी किए।