Hathras Case: SC में यूपी सरकार का हलफनामा, ‘पीड़िता के परिवार को मिलेगी त्रिस्तरीय सुरक्षा’

Hathras Case: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के हाथरस (Hathras) में दलित युवती के सामूहिक दुष्कर्म और उसकी मौत होने के मामले में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) की निगरानी वाली सीबीआई जांच की मांग करते हुए, उत्तर प्रदेश सरकार ने शीर्ष अदालत को सूचित किया है कि पीड़िता के परिवार को तीन-स्तरीय सुरक्षा दी गई है।

Avatar Written by: October 14, 2020 1:00 pm
Yogi SC Supreme Court

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के हाथरस (Hathras) में दलित युवती के सामूहिक दुष्कर्म और उसकी मौत होने के मामले में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) की निगरानी वाली सीबीआई जांच की मांग करते हुए, उत्तर प्रदेश सरकार ने शीर्ष अदालत को सूचित किया है कि पीड़िता के परिवार को तीन-स्तरीय सुरक्षा दी गई है। सरकार ने यह भी बताया कि परिवार ने अपना मुकदमा लड़ने के लिए निजी वकील भी रखा है। छह अक्टूबर को शीर्ष अदालत के निर्देशों के अनुपालन में राज्य द्वारा दायर एक हलफनामे में परिवार के लिए किए गए सुरक्षा इंतजामों का विवरण दिया गया।

hathras

राज्य सरकार ने कहा कि इसने बुलगड़ी गांव में रहने वाले परिवार के सदस्यों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए पर्याप्त पुलिसकर्मियों को तैनात किया, और उनके घर के आसपास चौबीस घंटे निगरानी रखने के लिए क्लोज-सर्किट टेलीविजन कैमरा लगवाया। शीर्ष अदालत 15 अक्टूबर को इस मामले की सुनवाई करेगी।

हलफनामे में कहा गया है, “एक इंस्पेक्टर जनरल को सुरक्षा व्यवस्था का प्रभारी बनाया गया है .. वह पुलिस बल की निगरानी करेगा और दैनिक आधार पर सुरक्षा व्यवस्था इंतजामों को देखेगा।”

hathras case

राज्य ने हलफनामे में यह भी कहा कि गांव में तैनात सुरक्षाकर्मियों को उनकी ड्यूटी के बारे में सख्त निर्देश जारी किए गए थे और परिवार की निजता में कोई दखलअंदाजी नहीं है। परिवार के लोग आने-जाने और अपने मनचाहे लोगों से मिलने के लिए स्वतंत्र हैं।

Support Newsroompost
Support Newsroompost