लद्दाख में भारत तेजी के साथ कर रहा है कुछ ऐसा कि चीन के छूटेंगे पसीने!

भारत और चीन में सीमा विवाद (India China Border Dispute) के बीच भारत हिमाचल प्रदेश के दारचा (Darcha) से लद्दाख (Laddakh) तक जाने वाली 290 किमी लंबी सड़क तेजी से (India Making Road) बना रहा है। इससे अग्रिम मोर्चे तक भारी हथियार (Heavy Weapons) और सैनिक ( and soldiers) ले जाने में आसानी होगी।

Avatar Written by: August 26, 2020 8:55 am
darcha to ladakh road2

नई दिल्ली। भारत और चीन में सीमा विवाद (India China Border Dispute) के बीच भारत हिमाचल प्रदेश के दारचा (Darcha) से लद्दाख (Ladakh) तक जाने वाली 290 किमी लंबी सड़क तेजी से (India Making Road) बना रहा है। यह सड़क पहाड़ों में ऊंचाई वाले बर्फीले इलाकों से होकर कई दर्रों से भी गुजरेगी। सूत्रों के मुताबिक, इस सड़क के बनने से लद्दाख में अग्रिम मोर्चे तक भारी साजोसामान और सैनिकों को ले जाने में आसानी होगी। साथ ही इस सड़क के बनने से रणनीतिक रूप से अहम कारगिल क्षेत्र भी जुड़ सकेगा। मनाली-लेह और श्रीनगर-लेह के बाद यह तीसरी सड़क होगी जो लद्दाख को जोडे़गी।

darcha to ladakh road

अधिकारियों ने बताया कि हिमाचल से लद्दाख तक एक वैकल्पिक सड़क बनाने के लिए तेजी से काम शुरू कर दिया गया है। उम्मीद है कि इसे 2022 तक पूरा कर लिया जाएगा। सूत्रों ने बताया कि पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) से सटे दौलत बेग ओल्डी और डेपसांग जैसे मुख्य इलाकों तक सैनिकों की आवाजाही सुनिश्चित करने के लिए कई सड़क परियोजनाओं को पूरा करने में तेजी लाई जा रही है।

डेपसांग मैदान को लद्दाख से जोड़ने वाली सड़क

सीमा सड़क संगठन (BRO) एक और रणनीतिक रूप से अहम सामरिक सड़क बना रहा है, जो लद्दाख को डेपसांग के मैदान से जोडे़गी। यह सड़क लद्दाख में सब सेक्टर नॉर्थ तक पहुंच भी आसान बनाएगी।

india china tension

पैंगोंग झील के पास भी सड़क

भारत पैंगोंग झील के पास फिंगर इलाके में भी सड़क बना रहा है। इसके अलावा दारबुक-श्योक-दौलत बेग ओल्डी रोड को जोड़ने वाली सड़क भी बनाने में जुटा है। पैंगोंग झील में फिंगर इलाके में बनाई सड़क भारतीय सेना के लिए काफी अहम है, क्योंकि इस इलाके में भारतीय पेट्रोलिंग करती रही है।

Support Newsroompost
Support Newsroompost