बंगाल की खाड़ी में जॉइंट मिलिट्री एक्सरसाइज कर रहीं भारत-अमेरिका की नौसेनाएं, अमेरिकी एयरक्राफ्ट कैरियर के साथ 3 वॉरशिप भी पहुंचे

लद्दाख में हुई हिंसक झड़प के बाद भारत और चीन में सीमा विवाद और बढ़ गया था। जिसके बाद पैदा हुए तनाव के बीच भारत और अमेरिका ने बंगाल की खाड़ी में मिलिट्री एक्सरसाइज शुरू की है।

Avatar Written by: July 21, 2020 3:56 pm

नई दिल्ली। लद्दाख में हुई हिंसक झड़प के बाद भारत और चीन में सीमा विवाद और बढ़ गया था। जिसके बाद पैदा हुए तनाव के बीच भारत और अमेरिका ने बंगाल की खाड़ी में मिलिट्री एक्सरसाइज शुरू की है। यह एक्सरसाइज अंडमान-निकोबार आईलैंड के पास हो रही है।

america india

भारत-अमेरिका की मिलिट्री एक्सरसाइज

इतना ही नहीं इस मिलिट्री एक्सरसाइज में अमेरिकी बेड़े की आगुआई एयरक्राफ्ट कैरियर यूएसएस निमित्ज कर रहा है। इसके साथ ही यहां तीन वॉरशिप भी शामिल हैं। दोनों सेनाओं की इस एक्सरसाइज को पासेक्स (पासिंग एक्सरसाइज) नाम दिया गया गया है।

मिलिट्री एक्सरसाइज से चीन को जवाब

इससे चीन को सीधा जवाब मिलेगा कि अगर उसने साउथ चाइना सी पर दबाव बनाया तो भारत और अमेरिका मिलकर हिंद महासागर में उसका रास्ता ब्लॉक कर सकते हैं। चीन का खाड़ी और अफ्रीकी देशों से व्यापार इसी रास्ते से होता है। भारतीय नौसेना इसी तरह की एक्सरसाइज जापान और फ्रांस की नौसेना के साथ कर चुकी है।

america india

अमेरिकी बेड़े में ये वॉरशिप भी शामिल

एक्सरसाइज में अमेरिका के एयरक्राफ्ट कैरियर निमित्ज के साथ ही यूएसएस प्रिंसटन, यूएसएस स्टरेट और यूएसएस राफ जॉनसन शामिल हैं। चीन की हिंद महासागर में बढ़ती दखल को रोकने के लिए अमेरिका ने अपने तीन एयरक्राफ्ट कैरियर्स को इस इलाके में तैनात किया है। इनमें निमित्ज के अलावा यूएसएस रोनाल्ड रीगन साउथ चाइना सी में, जबकि यूएएसएस थियोडोर रुजवेल्ट फिलीपींस सागर के पास मौजूद है।

america india

परमाणु ऊर्जा से चलता है यूएसएस निमित्ज

निमित्ज अमेरिका के सातवें बेड़े में शामिल है। परमाणु ऊर्जा से चलने वाले इस जहाज को 3 मई 1975 को अमेरिकी नौसेना में शामिल किया गया था। 332 मीटर लंबे इस एयरक्राफ्ट कैरियर पर 90 लड़ाकू विमान और हेलिकॉप्टर्स के अलावा 3000 के आसपास नौसैनिक तैनात होते हैं। यूएसएस निमित्ज चीन के नजदीक साउथ चाइना सी में एक्सरसाइज खत्म करने के बाद यहां आया है।

Support Newsroompost
Support Newsroompost