US

इंडिया ग्लोबल वीक नाम के एक वीडियो सेशन में विदेश मंत्री एस जयशंकर ने अपनी राय रखी। उन्होंने कहा कि भारत और अमेरिका को अपने संबंध समझने में छह दशक लग गए लेकिन अंततः यह संबंध मजबूत बनकर सामने आया।

टिकटॉक मूल कंपनी बाइटडांस लगातार दावा करती रही है कि उसके सर्वर अमेरिका और सिंगापुर में हैं। हालांकि चीन सरकार द्वारा इस डाटा तक पहुंच हासिल करना मुश्किल नहीं है।

भारत और चीन विवाद के बीच चीन के खिलाफ अब भारत को अमेरिका से सैन्य सहयोग मिलेगा। व्हाइट हाउस के एक शीर्ष अधिकारी ने सोमवार को कहा कि अमेरिकी सेना भारत और चीन के बीच या कहीं और भी संघर्ष के संबंध में उसके साथ ‘‘मजबूती से खड़ी रहेगी।’’

अमेरिका अब चीन के साथ अलग तरीके से पेश आएगा। अमेरिका की चीन को लेकर तैयारी कुछ बदलेगी ऐसा अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने कहा है। पोम्पिओ ने कहा कि अमेरिका को चीन के साथ अब अलग तरीके से पेश आना होगा।

एक तरफ दुनियाभर में कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे है। ऐसे में इस महामारी को लेकर एक और दवा किया जा रहा है। एक बार फिर विश्व स्वास्थ्य संगठन यानी WHO सवालों के घेरों में आ गया है। बता दें कि 32 देशों के 239 वैज्ञानिकों ने कोविड-19 को लेकर एक ओपन लेटर लिखा है, जिसमें WHO पर भी सवाल उठाए गए हैं।

गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प को लेकर भारत-चीन के बीच सीमा विवाद जारी है। जिसके बाद देश में चीन के खिलाफ जमकर विरोध हुआ। देश में चीन के सामान के बहिष्कार की मांग उठने लगी जिसके बाद सरकार ने 59 चीनी ऐप पर प्रतिबंध लगा दिया। अब इस विरोध की चिंगारी अमेरिका तक पहुंच गई है।

दुनियाभर में कोरोना के बढ़ते प्रकोप के बीच एक भारतीय वैज्ञानिक ने अच्छी खबर दी है। भारतीय वैज्ञानिक के नेतृत्व में शोधकर्ताओं ने एक सस्ता, विद्युत रहित सेंट्रीफ्यूज विकसित किया है जो नए कोरोना वायरस की जांच के लिये किसी मरीज की लार के लिये गए नमूनों से घटकों को अलग कर सकता है।

दक्षिणी चीन सागर में चीन और अमेरिका के बीच तनाव चरम पर है।अब चीन की विस्तारवादी आक्रमक रवैये के खिलाफ दक्षिण चीन सागर में लगातार उकसावे का खेल खेल रहे चीन पर शिकंजा कसने के लिए अमेरिका ने दो विमानवाहक युद्धपोत तैनात कर दिए हैं।

चीन का चेहरा अब धीरे धीरे दुनिया के सामने आ रहा है। चीन पर सीमा पर जोर जबरदस्ती, हांगकांग में अत्याचार, मानवाधिकार का उल्लंघन और कोरोना वायरस फैलाने का आरोप है। ऐसा लग रहा है अब चीन की इन हरकतों से पूरी दुनिया अब तंग आ चुकी है।

संशोधन विधेयक में रक्षा मंत्री से अमेरिका और भारत के बीच रक्षा और संबंधित औद्योगिक एवं प्रौद्योगिकी अनुसंधान, विकास के अवसरों तथा कर्मियों के आदान-प्रदान पर एक संक्षिप्त जानकारी प्रदान करने को भी कहा गया है।