अब रेलवे टिकट के लिए रेल यात्रियों को देना होगा पूरा पता, इस वजह से IRCTC ने लिया यह बड़ा फैसला

भारतीय रेलवे ने कोरोना संकट के बीच लागू लॉकडाउन में ट्रेन यात्रियों के लिए भारतीय रेलवे खानपान और पर्यटन कॉर्पोरेशन (IRCTC) ने रेल टिकट बुक करने के नियमों में बदलाव किया है। भार

Avatar Written by: May 14, 2020 2:17 pm

नई दिल्ली। भारत में कोरोना संकट काल के दौरान कई तरह की योजनाएं लागू की जा रही हैं। इस दौरान भारतीय रेलवे ने कोरोना संकट के बीच लागू लॉकडाउन में ट्रेन यात्रियों के लिए भारतीय रेलवे खानपान और पर्यटन कॉर्पोरेशन (IRCTC) ने रेल टिकट बुक करने के नियमों में बदलाव किया है। भारतीय रेलवे ने फैसला किया है कि स्पेशल ट्रेनों में आरक्षण के लिए भरे जाने वाले विवरण में यात्री के गंतव्य का पूरा पता भी लिया जाएगा ताकि जरूरत पड़ने पर उससे तुरंत संपर्क साधा जा सके। कोरोना संक्रमण के बीच स्पेशल ट्रेनों में सफर कर रहे यात्रियों को अब अपने गंतव्य का पूरा पता बताना होगा। स्टेशन से उतरने के बाद शहर के किस गली, किस गांव के किस मकान में आपका ठिकाना होगा यह ब्योरा टिकट बुकिंग के दौरान ही देना होगा।

indian-railways

रेलवे बोर्ड के सूत्रों के मुताबिक, आईआरसीटीसी की वेबसाइट में आरक्षण फॉर्म में इस निर्णय के क्रियान्वयन में आवश्यक संशोधन करने के लिए कहा गया है। आईआरसीटीसी ने 13 मई से इसकी शुरुआत कर दी है। भारतीय रेलवे  के मुताबिक IRCTC ने 13 मई से ऑनलाइन टिकट बुक करने वाले सभी यात्रियों का गंतव्य पता लेना शुरू कर दिया है। इससे हमें बाद में जरूरत पड़ने पर संपर्क करने में मदद मिलेगी। यदि कोई यात्री कोरोना संक्रमित पाया जाता है और उसके सहयात्री उस समय तक अपने गंतव्य चले जाते हैं तो ऐसे में प्रोटोकॉल के मुताबिक उन्हें ढूंढ़ना और उनकी जांच कराना एक मुश्किल काम होता है।

indian railways

सभी यात्रियों के गंतव्य का पूरा पता होने की दशा में ये परेशानी नहीं होगी। इसलिए ही ऑनलाइन टिकट बुक करते समय यात्रियों से उनके गंतव्य का पूरा पता लिया जा रहा है। रेलवे ने गुरुवार को इसकी जानकारी देते हुए कहा कि इससे जरूरत पड़ने पर कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग में मदद मिलेगी। भारतीय रेलवे ने गुरुवार को बताया कि स्पेशल ट्रेनों के लिए अब तक 2,34,411 यात्रियों ने टिकट बुक किए हैं। पैसेंजर रिज़र्वेशन सिस्टम (PRS) ने अब तक कुल 45.30 करोड़ रुपए किराया इकट्ठा किया है।

indian-railways

गौरतलब है कि रेलवे ने 12 मई से कुछ स्पेशल ट्रेनों की शुरुआत की है। नई दिल्ली से 15 प्रमुख शहरों के लिए 15 जोड़ी ट्रेनें चलाई जा रही हैं। कई तरह के एहतियात के साथ यात्रियों को सफर की इजाजत दी जा रही है।  इन ट्रेनों में टिकटों की बुकिंग केवल ऑनलाइन हो रही है। स्टेशनों पर मौजूद टिकट खिड़कियों को नहीं खोला गया है।

Support Newsroompost
Support Newsroompost