Connect with us

देश

Parliamentary Panel on Defence: रक्षा खर्च को लेकर राहुल गांधी ने उठाए सवाल, समिति के अध्यक्ष से हुई तीखी नोकझोंक

Parliamentary panel on Defence: वहीं बैठक के दौरान राहुल गांधी ने पूछा कि आखिर क्यों केंद्र सरकार ने जब पहले 126 राफेल विमानों के लिए समझौता किया था तो उसे घटाकर 26 कर दिया। इसके अलावा उन्होंने एक बार फिर आरोप लगाया कि चीनी सेना ने भारत की ज़मीन पर कब्जा कर लिया।

Published

on

Rahul Gandhi

नई दिल्ली। रक्षा मामलों की संसदीय स्थायी समिति की बैठक में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और वायनाड से सांसद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के एक सवाल को लेकर जमकर हंगामा मच गया। बता दें कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी लद्दाख मुद्दे को लेकर केंद्र सरकार पर लगातार निशाना साधते रहते है। इसी कड़ी में उन्होंने संसदीय स्थायी समिति की बैठक में एलएसी की स्थिति, चीन के साथ हुए समझौते और राफेल फाइटर जेट को लेकर सवाल उठाए। हालांकि इस दौरान रक्षा खर्च को लेकर सवाल उठाने पर राहुल गांधी और पैनल के अध्यक्ष जुएल उरांव के बीच तीखी नोकझोंक हो गई। बता दें कि गुरुवार को रक्षा मंत्रालय से जुड़ी स्थायी समिति की बैठक हुई।

Rahul Gandhi

वहीं बैठक के दौरान राहुल गांधी ने पूछा कि आखिर क्यों केंद्र सरकार ने जब पहले 126 राफेल विमानों के लिए समझौता किया था तो उसे घटाकर 26 कर दिया। इसके अलावा उन्होंने एक बार फिर आरोप लगाया कि चीनी सेना ने भारत की ज़मीन पर कब्जा कर लिया। जिसके बाद समिति के अध्यक्ष और ओडिशा के भाजपा सांसद जुएल उरांव ने राहुल गांधी को बीच में रोकते हुए कहा कि उन्होंने बहुत ज़्यादा समय ले लिया है।

jual Oram

बताया जा रहा है कि इस दौरान राहुल गांधी का गुस्सा फूट पड़ा। इतना ही नहीं गुस्साई राहुल और जुएल उरांव के बीच तीखी नोंक झोंक शुरू हो गई। राहुल गांधी ने उरांव पर आरोप लगाया कि वो समिति की बैठकों में विपक्षी सदस्यों ख़ासकर कांग्रेस के सदस्यों को बोलने का मौका नहीं देते हैं। हालांकि उरांव  ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष से कहा कि वो बहुत ज़्यादा समय ले चुके हैं और अभी तीसरे भाग की बैठक भी होनी है।

Rahul Gandhi

बता दें कि बैठक आम बजट में रक्षा मंत्रालय से जुड़े प्रावधानों पर चर्चा के लिए बुलाई गई थी। बैठक में रक्षा मंत्रालय के अधिकारियों के अलावा चीफ ऑफ डिफेंस स्टॉफ जनरल बिपिन रावत और डीजीएमओ समेत कई अन्य आला अधिकारी शामिल हुए।

Advertisement
Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Advertisement