कांग्रेस का सिंधिया पर वार, कहा- 17 साल सांसद बनाया, फिर भी मोदी-शाह की शरण में ?

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मंगलवार को पार्टी से इस्तीफा दे दिया। मध्य प्रदेश के युवा नेता सिंधिया के इस फैसले से कांग्रेस न सिर्फ संकट में है, बल्कि वो आहत भी है। कांग्रेस का कहना है कि पार्टी में उन्हें सब कुछ दिया गया, बावजूद इसके सिंधिया ने पाला बदल लिया।

Written by: March 11, 2020 11:40 am

नई दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मंगलवार को पार्टी से इस्तीफा दे दिया। मध्य प्रदेश के युवा नेता सिंधिया के इस फैसले से कांग्रेस न सिर्फ संकट में है, बल्कि वो आहत भी है। कांग्रेस का कहना है कि पार्टी में उन्हें सब कुछ दिया गया, बावजूद इसके सिंधिया ने पाला बदल लिया। होली के मौके पर मंगलवार को ज्योतिरादित्य सिंधिया ने इस्तीफा दिया है, जिसके चलते मध्य प्रदेश की कांग्रेस सरकार गिरने की कगार पर पहुंच गई है। सिंधिया ने इस्तीफे का कारण बताते हुए लिखा है कि वो कांग्रेस में रहते हुए जनसेवा नहीं कर पा रहे थे। साथ ही सिंधिया गुट की तरफ से उन्हें सम्मान न मिलने के आरोप भी लगाए जाते रहे हैं।

Jyotiraditya Scindia & Kamal Nath

इधर कांग्रेस भी सिंधिया के फैसले के बाद हमलावर हो गई है। पार्टी उनपर निशाना साध रही है। मध्यप्रदेश कांग्रेस ने एक ट्वीट किया है। उन्होंने बताया है कि कांग्रेस पार्टी ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को क्या-क्या दिया है। ट्वीट में लिखा है, सिंधिया जी की 18 साल की राजनीति में कांग्रेस ने 17 साल सांसद बनाया, 2 बार केंद्रीय मंत्री, मुख्य सचेतक, राष्ट्रीय महासचिव, यूपी का प्रभारी, कार्यसमिति सदस्य, चुनाव अभियान प्रमुख बनाया, 50 से ज्यादा टिकट, 9 मंत्री दिए। फिर भी मोदी-शाह की शरण में?

पार्टी ने एक और ट्वीट किया है और लिखा है कि पूरी कांग्रेस एक है। मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री कमलनाथ जी के नेतृत्व में बनी कांग्रेस सरकार पूरी तरह से एकजुट और सुरक्षित है। बीजेपी की फूट डालो, राज करो की साजिश कभी कामयाब नहीं होगी। हमारे सभी विधायक प्रदेश की जनता के प्रति जवाबदारी, अपना फर्ज और नैतिकता समझते हैं।