मोहन भागवत बोले-कोई हिंदू भारत विरोधी नहीं हो सकता, उसे देशभक्त होना ही पड़ेगा

Mohan Bhagwat : राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के सरसंघचालक मोहन भागवत (Mohan Bhagwat) ने बड़ा बयान दिया है। दरअसल भागवत ने महात्मा गांधी पर लिखी पुस्तक ‘मेकिंग ऑफ ए हिंदू पैट्रियट’ (The Making of a True Patriot) का विमोचन किया।

Avatar Written by: January 2, 2021 8:40 am

नई दिल्ली। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के सरसंघचालक मोहन भागवत (Mohan Bhagwat) ने बड़ा बयान दिया है। दरअसल भागवत ने महात्मा गांधी पर लिखी पुस्तक ‘मेकिंग ऑफ ए हिंदू पैट्रियट’ (The Making of a True Patriot) का विमोचन किया। बता दें कि इस किताब में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को ‘हिन्दू देशभक्त’ बताया गया है। वहीं इस दौरान कार्यक्रम को संबोधित करते हुए भागवत ने कहा कि कोई हिंदू है तो उसे देशभक्त होना ही पड़ेगा, यह उसके मूल में है।

RSS SarSanghchalak Mohan Bhagwat

संघ प्रमुख ने कहा कि देश भक्ति की प्रवृत्ति हर व्यक्ति में होती है। भारत में व्यक्ति, इस भूमि को अपना मानता है। जमीन की पूजा, माटी की पूजा सब लोग किसी न किसी रूप में करते हैं। परंतु गांधी जी ने कहा- मेरी देशभक्ति मेरे धर्म से निकलती है। मोहन भागवत ने कहा, हिंदू है तो देशभक्त होना ही पड़ेगा उसको। सोई हुई देशभक्ति को जगाना पड़ता है। कोई हिंदू भारत विरोधी नहीं है।

RSS SarSanghchalak Mohan Bhagwat

मोहन भागवत ने कहा कि महात्मा गांधी जी ने कहा था कि मेरी देशभक्ति मेरे धर्म से निकली है। तो हिन्दू पेट्रियट यानी हिन्दू है तो देशभक्त होना ही पड़ेगा। वो उसकी प्रकृति में है। यहां पर कोई भी देशद्रोही नहीं है। उन्होंने कहा कि स्वराज्य तब तक आप नहीं समझ सकते जबतक आप स्वधर्म को नहीं समझते हैं।

ओवैसी का मोहन भागवत पर वार

मोहन भागवत के इस बयान पर हैदराबाद से सांसद और एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने ट्वीट कर पलटवार किया है। ओवैसी ने लिखा, ‘क्या भागवत जवाब देंगे: गांधी के हत्यारे गोडसे के बारे में? नेल्ली नरसंहार के लिए जिम्मेदार लोगों के बारे में, 1984 के सिख विरोधी और 2002 के गुजरात नरसंहार के बारे में?’।

Support Newsroompost
Support Newsroompost