योगी सरकार की कार्रवाई से खौफजदा मुख्तार अंसारी परिवार, पत्नी ने लिखा राष्ट्रपति को पत्र, लगाई गुहार

Uttar Pradesh : जेल में बंद माफिया डॉन और बसपा विधायक मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) की पत्नी अफशा अंसारी ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ramnath Kovind)  को एक पत्र लिखा है, जिसमें उन्होंने अपने पति की जान को खतरा बताया है और उनसे यह सुनिश्चित करने का आग्रह किया गया है कि मुख्तार का ट्रायल वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कराया जाए।

Avatar Written by: November 3, 2020 3:50 pm
Mukhtar Ansari YOgi

नई दिल्ली। जेल में बंद माफिया डॉन और बसपा विधायक मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) की पत्नी अफशा अंसारी ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ramnath Kovind)  को एक पत्र लिखा है, जिसमें उन्होंने अपने पति की जान को खतरा बताया है और उनसे यह सुनिश्चित करने का आग्रह किया गया है कि मुख्तार का ट्रायल वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कराया जाए। राष्ट्रपति को लिखे अपने पत्र में, अफशा ने कहा कि मुख्तार पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी, ब्रिगेडियर मोहम्मद उस्मान और स्वतंत्रता सेनानी शौकतुल्लाह के परिवार से हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि राजनीतिक प्रतिशोध के कारण उनके परिवार के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है और इस बात का ब्यौरा साझा किया कि मुख्तार को उनके कट्टर प्रतिद्वंद्वी और माफिया डॉन एमएलसी बृजेश सिंह ने कैसे निशाना बनाया।

Mukhtar Ansari and his wife

उन्होंने बागपत में मुन्ना बजरंगी की भी हत्या का जिक्र करते हुए कहा, बृजेश के गैंग ने मेरे पति पर 15 जुलाई 2001 को हमला किया था जब वह मऊ से लौट रहे थे। वह बच गए, लेकिन उनकी सुरक्षा में तैनात एक पुलिस हेड कांस्टेबल सहित दो व्यक्तियों की मौत हो गई, जबकि आठ घायल हो गए। ये सभी बृजेश के खिलाफ गवाह हैं। उस मामले की सुनवाई में कोई प्रगति नहीं हुई है जबकि गवाहों को धमकाया जा रहा है और उनके शस्त्र लाइसेंस रद्द कर दिए गए हैं।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, अतिरिक्त मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी और शीर्ष पुलिस अधिकारी उनके परिवार को निशाना बना रहे हैं और उनके बेटे अब्बास अंसारी, जो राष्ट्रीय स्तर के निशानेबाज हैं, के खिलाफ झूठा मामला दर्ज किया गया जबकि उनकी पैतृक संपत्तियों को मानदंडों के उल्लंघन में ध्वस्त कर दिया गया।

mukhtar ansari family

विधायक के भाई, बसपा सांसद अफजल अंसारी ने पुष्टि की है कि अफशा ने एक पत्र भेजा है और कहा है कि मुख्तार का वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से ट्रायल कराने के सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बावजूद अदालत के समक्ष पेश करने के लिए पंजाब से उन्हें लाने की कोशिश उन्हें खत्म करने की एक सोची समझी साजिश है।

अफजल ने कहा कि उनके परिवार को राजनीतिक प्रतिशोध के कारण निशाना बनाया जा रहा है क्योंकि उन्होंने 2019 के लोकसभा चुनाव में गाजीपुर सीट से भाजपा उम्मीदवार मनोज सिन्हा (अब कश्मीर के राज्यपाल) को हराया था।अफजल ने कहा कि हाल ही में भाजपा विधायक अलका राय द्वारा कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को लिखा गया पत्र भी मुख्तार की हत्या की साजिश का हिस्सा है। भाजपा विधायक अलका राय ने हाल ही में प्रियंका गांधी वाड्रा को पत्र लिखकर अपने पति की हत्या में न्याय दिलाने का आग्रह किया था। मामले में मुख्तार हत्या के मुख्य आरोपी हैं।