Rahul gandhi Hathras: राहुल गांधी का गिरना क्या ‘नाटक’ था? लीक हुए इस वीडियो से खुल गई पोल

Rahul gandhi Hathras: राहुल गांधी (Rahul Gandhi) की ड्रामेबाजी आज कैमरे में कैद हो गई। दरअसल, हाथरस की घटना का राजनीतिक फायदा उठाने के लिए कांग्रेस नेता राहुल गांधी और उनकी बहन पार्टी महासचिव प्रियंका वाड्रा (Priyanka Vadra) यमुना एक्सप्रेस वे के जरिए दिल्ली से हाथरस जा रहे थे। उनके साथ पूरा लाव-लश्कर था। रास्ते में यूपी पुलिस ने उनके काफिले को रोक लिया तो दोनों भाई-बहन पैदल ही चल पड़े।

Avatar Written by: October 1, 2020 9:26 pm

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश में हाथरस कांड (Hathras Gangrape Case) को लेकर देश में काफी गुस्सा है। पीड़िता के लिए अब देशभर से लोग सड़कों पर उतर आए हैं। जिस तरह से यूपी पुलिस (UP Police) ने देर रात युवती का जबरन अंतिम संस्कार कर दिया उसे लेकर सवाल खड़े किए जा रहे हैं। इस मामले को लेकर राजनीतिक दलों के नेता भी यूपी सरकार पर हमलावर हैं। इन सब के बीच राहुल गांधी और प्रियंका गांधी पीड़ित के परिजन से मिलने हाथरस जानें के लिए निकले। लेकिन उन्हें बीच में ही बिना मिले दिल्ली वापस आना पड़ा। राहुल गांधी के दिल्ली लौटने से पहले जमकर ड्रामेबाजी हुई। पहले मीडिया में खबर आई की राहुल गांधी के साथ धक्का-मुक्की हुई है। लेकिन कैमरे की नजर से कुछ भी कहां छुपता है। राहुल गांधी की ड्रामेबाजी आज कैमरे में कैद हो गई। दरअसल, हाथरस की घटना का राजनीतिक फायदा उठाने के लिए कांग्रेस नेता राहुल गांधी और उनकी बहन पार्टी महासचिव प्रियंका वाड्रा यमुना एक्सप्रेस वे के जरिए दिल्ली से हाथरस जा रहे थे। उनके साथ पूरा लाव-लश्कर था। रास्ते में यूपी पुलिस ने उनके काफिले को रोक लिया तो दोनों भाई-बहन पैदल ही चल पड़े।

Rahul Gandhi

थोड़ी देर पैदल चलने के बाद जब राहुल ने जबरदस्त नाटकबाजी की। पुलिस के रोकने पर उन्होंने माइक पर लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि मैं अकेले पैदल जाना चाहता हूं। इसी दौरान उन्होंने कैमरा मैन से कहा कि भैया कैमरा लाना इधर….और फिर वे नाटकबाजी करते हुए नीचे गिर गए।


हालांकि राहुल गांधी ने बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि पुलिस ने उनके लाठी मारकर गिरा दिया। जहां राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को रोका गया था, वहां से हाथरस की दूरी 142 किलोमीटर है। उधर, हाथरस जिलाधिकारी पी.के. लक्षकार ने बताया कि जिले में सीआरपीसी की धारा-144 लागू कर दी गई है, जो आगामी 31 अक्टूबर तक प्रभावी रहेगी। जिले की सभी सीमाएं सील कर दी गई हैं।

राहुल गांधी इस ड्रामेबाजी पर सोशल मीडिया पर उनकी जबरदस्त खिंचाई का जा रही है।