राहुल ने किया भाजपा और RSS से सोशल मीडिया को लेकर सवाल, बदले में रविशंकर प्रसाद से मिला ऐसा जवाब

राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के इन आरोपों का जवाब दिया कानून मंत्री (Law Minister) रविशंकर प्रसाद (Ravishankar Prasad) ने। रविशंकर प्रसाद ने लिखा, “ऐसे लोग जो अपने ही पार्टी के लोगों पर कोई प्रभाव नहीं डाल पाते, कह रहे हैं कि पूरी दुनिया बीजेपी और RSS के कंट्रोल में है।

Avatar Written by: August 16, 2020 6:31 pm

नई दिल्ली। राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने रविवार को ट्वीट (Tweet) कर भाजपा (BJP) पर बड़ा लगाया। राहुल गांधी ने ट्विटर पर लिखा, “भारत में बीजेपी, आरएसएस (RSS) भारत में फेसबुक और वॉट्सएप (WhatsApp) जैसे सोशल मीडिया (Social Media) प्लेटफार्म को नियंत्रित करते हैं और इसके माध्यस से फर्जी खबरें और नफरत फैलाते हैं और इसका इस्तेमाल मतदाताओं को प्रभावित करने के लिए करते हैं। आखिरकार, अमेरिकी मीडिया फेसबुक के बारे में सच्चाई के साथ सामने आया है।”

राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के इन आरोपों का जवाब दिया कानून मंत्री (Law Minister) रविशंकर प्रसाद (Ravishankar Prasad) ने। रविशंकर प्रसाद ने लिखा, “ऐसे लोग जो अपने ही पार्टी के लोगों पर कोई प्रभाव नहीं डाल पाते, कह रहे हैं कि पूरी दुनिया बीजेपी और RSS के कंट्रोल में है। आप चुनाव से पहले डेटा को हथियार बनाने के लिए कैम्ब्रिज एनालिटिका (Cambridge Analytica) और फेसबुक के साथ गठजोड़ करते हुए रंगे हाथों पकड़े गए थे। और अब आप हमसे पूछताछ कर रहे हैं?”


रविशंकर प्रसाद ने आगे कहा, “आज तथ्य यह है कि यह है कि सूचना और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का लोकतंत्रीकरण हो गया है। यह अब आपके परिवार के सेवकों द्वारा नियंत्रित नहीं किया जाता है और इसीलिए आपको दर्द हो रहा है। अभी तक बैंगलोर दंगों की आपके द्वारा निंदा नहीं की गई है। आपका साहस कहां गायब हो गया?”

राहुल गांधी का भाजपा-RSS पर वार, कहा फेसबुक- वॉट्सऐप की मदद से फैलाते हैं फेक न्यूज

कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Congress Leader Rahul Gandhi) ने रविवार को भारतीय जनता पार्टी (BJP) और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) पर हमला बोला है। उन्होंने कहा है कि भाजपा, आरएसएस भारत में फेसबुक (Facebook) और वॉट्सऐप (Whatsapp) को नियंत्रित करते हैं। वे इसके माध्यम से फर्जी खबरें और नफरत फैलाते हैं।

Rahul Gandhi

राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘भाजपा और आरएसएस का भारत में फेसबुक और वॉट्सऐप पर कब्जा है। वे इसके जरिये फेक न्यूज और नफरत फैलाने का काम करते हैं। वे इसका इस्तेमाल मतदाताओं को प्रभावित करने के लिए करते हैं।’ अपने ट्वीट में राहुल गांधी ने एक अखबार की रिपोर्ट को भी शेयर किया है।


असल में, फेसबुक के कर्मचारियों के हवाले रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में ऐसे कई लोग हैं जो सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर नफरत फैलाते हैं। कर्मचारियों का कहना है कि वर्चुअल दुनिया में नफरत वाली पोस्ट करने से असली दुनिया में हिंसा और तनाव बढ़ता है। पिछले दिनों अमेरिकी अखबार वॉल स्ट्रीट जनरल ने फेसबुक के कर्मचारियों के हवाले से एक रिपोर्ट शेयर की थी। इस रिपोर्ट में कहा गया था कि भारत में कई लोग ऐसे हैं जो सोशल प्लेटफॉर्म के जरिए फेक न्यूज और नफरत फैलाने का काम कर रहे हैं।