राजस्थानः कांग्रेस खुद लाएगी विश्वास प्रस्ताव, अशोक गहलोत ने विधायक दल की बैठक में कहा

कांग्रेस (congress) पार्टी का राजस्थान (Rajasthan) में चल रहा राजनीतिक संकट अब खत्म होता नजर आ रहा है।

Avatar Written by: August 13, 2020 7:25 pm

नई दिल्ली। कांग्रेस (congress) पार्टी का राजस्थान (Rajasthan) में चल रहा राजनीतिक संकट अब खत्म होता नजर आ रहा है। इस सब के बीच पार्टी में दोनों गुटों अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) और सचिन पायलट (Sachin Pilot) खेमे में सुलह होती नजर आ रही है। पार्टी ने आज विधायक दल की बैठक की जिसमें दोनों गुटों के विधायक मौजूद थे। इससे ठीक पहले 34 दिन के गतिरोध के बाद सचिन पायलट सीएम अशोक गहलोत से मिलने पहुंचे थे।

Ashok Gahlot & Sachin Pilot

शुक्रवार से राजस्थान में विधानसभा का सत्र शुरू हो रहा है। इस बीच भारतीय जनता पार्टी ने ऐलान किया है कि वो कल ही सदन में अविश्वास प्रस्ताव लाएगी। ऐसे में अशोक गहलोत सरकार के सामने बहुमत साबित करने की चुनौती बढ़ गई है। गुरुवार को भारतीय जनता पार्टी (BJP) की बैठक हुई, जिसमें ये फैसला लिया गया। इस बैठक में विधायकों से अविश्वास प्रस्ताव पर दस्तखत भी करा लिए गए हैं।

Ashok Gehlot and Vasundhara Raje

वहीं अब इस पूरे मामले पर अशोक गहलोत ने कांग्रेस विधायक दल की बैठक में ऐलान किया कि विधानसभा में कांग्रेस खुद विश्वास प्रस्ताव पेश करेगी। इससे ठीक पहले मुख्यमंत्री आवास पर कांग्रेस विधायक दल की बैठक हुई जिसमें पायलट और गहलोत गुट के सभी विधायक एकसाथ नजर आए।

Ashok Gehlot and Sachin Pilot

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा, “हम विश्वास मत खुद लाएंगे विधानसभा में।” विधायकों की नाराजगी पर गहलोत ने कहा, “किसी भी एमएलए की शिकायत है उसे दूर करेंगे। अभी चाहें अभी मिल लें। बाद में चाहे बाद में मिल लें।”

Vasundhara Raje

वहीं इस पूरे मामले पर भाजपा का कहना है कि गहलोत सरकार के पास संख्या नहीं है। विधानसभा में भाजपा के नेता गुलाब चंद कटारिया ने कहा कि अशोक गहलोत की सरकार हार चुकी है। विधायक दल की बैठक में 71 विधायक शामिल थे। भाजपा की सहयोगी पार्टी आरएलपी के तीन विधायक भी इसमें मौजूद थे। गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि कांग्रेस अपने घर में टांका लगाकर कपड़े को जोड़ना चाह रही है, लेकिन कपड़ा फट चुका है। ये सरकार जल्द ही गिरने वाली है।

BJP Rajasthan President Satish Punia

इस मामले पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा कि यह सरकार अपने विरोधाभास से गिरेगी, भाजपा पर यह झूठा आरोप लगा रहे हैं। लेकिन इनके घर के झगड़े से भाजपा का कोई लेना देना नहीं है।

CM Ashok Gehlot

राजस्थान विधानसभा में कुल 200 सीटें हैं, इनमें से 107 का आंकड़ा कांग्रेस के पास है। साथ ही कई निर्दलीय विधायकों का भी समर्थन है। जबकि भाजपा के पास साथी पार्टियां मिलाकर 76 का आंकड़ा है।