सिंधिया खेमे के मंत्रियों व विधायकों के फोन बंद हुए, कमलनाथ सरकार फिर भंवर में!

मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार की स्थितियां लगातार खराब होती जा रही हैं। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ पूरी ताकत से सरकार बचाने की कोशिश में लगे हुए हैं मगर कोई न कोई पेच खिसकता ही जा रहा है।

Written by: March 9, 2020 3:01 pm

नई दिल्ली। मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार की स्थितियां लगातार खराब होती जा रही हैं। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ पूरी ताकत से सरकार बचाने की कोशिश में लगे हुए हैं मगर कोई न कोई पेच खिसकता ही जा रहा है। इस बीच ज्योतिरादित्य सिंधिया खेमे से आ रही बगावत की खबरों ने कमलनाथ को बुरी तरह परेशान कर दिया है।

Rahul Gandhi, Kamal nath and jyotiraditya SCIndia

सिंधिया खेमे के ज्यादातर मंत्री और विधायकों के फोन बंद हैं। उनसे संपर्क भी नहीं हो पा रहा है। इस वजह से कमलनाथ खासे परेशान हैं। ज्योतिरादित्य सिंधिया पहले से ही राज्य में कमलनाथ सरकार के कामकाज से काफी नाराज हैं। उनके खेमे के मंत्रियों को भी कामकाज में दिक्कतें आ रही है और वे अपनी ही सरकार के खिलाफ मुखर भी होते आए हैं। उधर सरकार के समर्थन को इस बात से भी झटका लगा है कि दो विधायक अभी तक वापस नहीं लौटे हैं।

jyotiraditya scindia

सिंधिया खेमे के जिन मंत्रियों के फोन बंद हैं उनमें ईमारती देवी, प्रदुम्नन सिंह तोमर, गोविंद सिंह राजपूत और महेन्द्र सिंह सिसोदिया शामिल हैं। वहीं सिंधिया खेमे के जिन विधायकों के फ़ोन बंद हैं, उनमें मुन्ना लाल गोयल, गिरराज दंडोतिया, ओ पी एस भदौरिया, जसपाल सिंह जज्जी, बृजेंद्र यादव, जसवंत जाटव और राज्यवर्धन सिंह दत्तीगांव शामिल हैं।

kamalnath

सूत्रों के मुताबिक सिंधिया खेमे के ये मंत्री और विधायक विद्रोह पर उतारू हैं। ऐसे में कमलनाथ सरकार की नैया कभी भी भंवर में घिर सकती है।