Connect with us

देश

Delhi: केजरीवाल के इस दावे की खुल गई पोल?, विधानसभा में किया झूठा दावा, Twitter पर ट्रेंड हुआ #केजरीवाल_लिस्ट_दिखा

Delhi: वहीं केजरीवाल का झूठ सामने आने पर सोशल मीडिया पर लोगों ने दिल्ली सरकार की खिंचाई कर दी। कपिल मिश्रा के ट्वीट के बाद सोशल मीडिया पर लोगों ने भी आरटीआई को देखने के बाद सीएम केजरीवाल से नौकरी पाने वाले लोगों की सूची मांगी है। इतना ही नहीं अब सोशल मीडिया पर #केजरीवाल_लिस्ट_दिखा जमकर ट्रेंड कर रहा है। 

Published

on

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) का झूठ एक बार फिर बेकनाब हो गया है। इस बार उनका झूठ रोजगार को लेकर पकड़ा गया है। दरअसल बीते दिन केजरीवाल सरकार में वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया ने दिल्ली विधानसभा में सालाना बजट पेश किया। इसके साथ ही उन्होंने कहा था कि आने वाले 5 सालों में 20 लाख युवाओं को रोजगार दिया जाएगा। जिसके बाद सीएम केजरीवाल ने दावा किया कि बीते 7 साल में 12 लाख युवाओं को नौकरियां दी गई। अब केजरीवाल के इस दावे की भाजपा ने पोल खोलकर रख दी है। भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने केजरीवाल के दावे पर RTI  का जवाब सोशल मीडिया पर साझा किया है।

कपिल मिश्रा ने RTI से मिली जानकारी के अनुसार कहा कि केजरीवाल सरकार ने 7 सालों में सिर्फ 3246 जॉब्स दी हैं। साथ ही भाजपा ने निशाना साधते हुए केजरीवाल और सिसोदिया को झूठा करार दिया।

वहीं केजरीवाल का झूठ सामने आने पर सोशल मीडिया पर लोगों ने दिल्ली सरकार की खिंचाई कर दी। कपिल मिश्रा के ट्वीट के बाद सोशल मीडिया पर लोगों ने भी आरटीआई को देखने के बाद सीएम केजरीवाल से नौकरी पाने वाले लोगों की सूची मांगी है। इतना ही नहीं अब सोशल मीडिया पर #केजरीवाल_लिस्ट_दिखा जमकर ट्रेंड कर रहा है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement