25 लाख से अधिक आबादी वाले जिलों को दें 5 करोड़ रुपये : योगी

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जिला स्तर पर कोविड-19 की उपचार व्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए इस धनराशि का व्यय जिलाधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी तथा मुख्य चिकित्सा अधिकारी की कमेटी की संस्तुति पर किया जाए।

Avatar Written by: July 30, 2020 9:02 pm

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों से कहा कि कोविड से प्रभावित व्यक्तियों को हर जरूरी सुविधा दी जाए। इसके लिए धन की कमीं नहीं है। 25 लाख से कम जनसंख्या वाले जिलों को 3 करोड़ रुपये तथा 25 लाख से अधिक आबादी वाले जिलों को 5 करोड़ रुपये उपलब्ध कराए जाएं। मुख्यमंत्री ने गुरुवार को उच्चस्तरीय बैठक में ये निर्देश दिए। उन्होंने कोविड-19 से प्रभावित व्यक्तियों को सभी जरूरी सुविधाएं उपलब्ध कराए जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि इसके लिए धन की कमी नहीं होनी चाहिए। उन्होंने जिलों में इसके लिए अतिरिक्त धनराशि उपलब्ध कराने के निर्देश देते हुए कहा कि 25 लाख से अधिक आबादी वाले जिलों को मिले 5 करोड़ रुपये और 25 लाख से कम जनसंख्या वाले जनपदों को 3 करोड़ रुपये उपलब्ध करवाएं जाएं।

CM Yogi Adityanath

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जिला स्तर पर कोविड-19 की उपचार व्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए इस धनराशि का व्यय जिलाधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी तथा मुख्य चिकित्सा अधिकारी की कमेटी की संस्तुति पर किया जाए।

Yogi adityanath

मुख्यमंत्री ने निदेशक, एसजीपीजीआई को कानपुर, वाराणसी, प्रयागराज, बरेली, झांसी तथा गोरखपुर के मेडिकल कॉलेजों में विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम भेजने के निर्देश दिए। विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम के भ्रमण के दौरान संबंधित जनपद के जिलाधिकारी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी, मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल, सीनियर फैकल्टी, कोविड अस्पतालों के प्रभारी डिप्टी सीएमओ तथा वेन्टिलेटर संचालक उपस्थित रहेंगे।

CM Yogi Adityanath

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि कोविड-19 से संक्रमित व्यक्ति को कोविड चिकित्सालय में बेड उपलब्ध होना चाहिए। होम आइसोलेशन के मरीजों की मॉनिटरिंग के लिए तकनीक का उपयोग किया जाए। मेडिकल टेस्टिंग में और वृद्धि करने के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि प्रतिदिन एक लाख से अधिक टेस्ट निरंतर किए जाएं। आरटीपीसीआर से 40 हजार टेस्ट तथा रैपिड एंटीजन टेस्ट विधि से 65 हजार टेस्ट प्रतिदिन किए जाएं।

Yogi Adityanath

मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य महानिदेशक को प्रत्येक कोविड अस्पताल के प्रभारी तथा मुख्य चिकित्सा अधिकारी से एवं चिकित्सा शिक्षा महानिदेशक को प्रत्येक मेडिकल कॉलेजों के प्रिंसिपल से निरतर संवाद बनाए रखने के निर्देश दिए।