सरकार ने ट्रेन बेच दी है अडानी को? जानिए प्रियंका के इस दावे का सच

Indian Railways: एक तरफ जहां किसानों ने कृषि बिल वापसी को लेकर आंदोलन तेज कर दिया हैं। उनका आरोप है कि सरकार देश के बड़े-बड़े उघोगपतियों जैसे अडानी और अंबानी को फायदा पहुंचाने के लिए नये कानूनों से न्यूनतम समर्थन मूल्य की व्यवस्था और मंडियां खत्म की तैयारी में है, जिससे वे कॉरपोरेट की दया पर निर्भर रह जाएंगे।

Avatar Written by: December 16, 2020 10:45 am

नई दिल्ली। एक तरफ जहां किसानों ने कृषि बिल वापसी को लेकर आंदोलन तेज कर दिया हैं। उनका आरोप है कि सरकार देश के बड़े-बड़े उघोगपतियों जैसे अडानी और अंबानी को फायदा पहुंचाने के लिए नये कानूनों से न्यूनतम समर्थन मूल्य की व्यवस्था और मंडियां खत्म की तैयारी में है, जिससे वे कॉरपोरेट की दया पर निर्भर रह जाएंगे। तो दूसरी ओर मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस किसान आंदोलन के बहाने लगातार राजनीति करने में जुटी हुई है। साथ ही मोदी सरकार को घेरने के लिए सोशल मीडिया के जरिए किसानों में भ्रम फैलाने की कोशिश भी कर रही है। इसी बीच सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। जिसमें दावा किया जा रहा है कि भारतीय रेलवे को अडानी ग्रुप को बेच दी गई है। इस वीडियो को कांग्रेस नेता ने अपने ट्विटर हैंडल से शेयर किया है।

priyanka gandhi

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने हाल ही में भारतीय रेलवे (Indian Railway) पर एक निजी कंपनी के विज्ञापन से जुड़ा एक वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट किया था। प्रियंका ने लिखा था- ‘जिस भारतीय रेलवे को देश के करोड़ों लोगों ने अपनी मेहनत से बनाया भाजपा सरकार ने उस पर अपने अरबपति मित्र अडानी का ठप्पा लगवा दिया। कल को धीरे-धीरे रेलवे का एक बड़ा हिस्सा मोदी जी के अरबपति मित्रों को चला जाएगा। देश के किसान खेती-किसानी को भी आज मोदी जी के अरबपति मित्रों के हाथ में जाने से रोकने की लड़ाई लड़ रहे हैं।’

वहीं गुजरात कांग्रेस के नेता हार्दिक पटेल (Hardik Patel) ने भी ट्विटर पर इस वीडियो को शेयर किया। हार्दिक पटेल ने लिखा, ‘भारतीय रेल पर अडानी के फ़्रेश आटे का विज्ञापन देखने लायक़ हैं। अब तो दावे के साथ कह सकते है कि किसानों की लड़ाई सत्य के मार्ग पर हैं’।

क्या है सच

सोशल मीडिया के जरिए केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ भ्रम फैलाने की कोशिश में लगी कांग्रेस पार्टी की खुद ही पोल खुल गई है। ट्विटर पर कांग्रेस द्वारा फैलाए जा रहा ये वीडियो एकदम गलत साबित हुआ है। पीआईबी फैक्ट चेक ने इसकी पड़ताल कर बताया है कि यह दावा भ्रामक है। यह केवल एक वाणिज्यिक विज्ञापन है जिसका उद्देश्य केवल ‘गैर किराया राजस्व’ को बेहतर बनाना है।

वहीं कांग्रेस की पोल खुलने के बाद लोगों ने ट्विटर पर प्रियंका गांधी और हार्दिक पटेल की जमकर खरी खोटी सुनाई।

Support Newsroompost
Support Newsroompost