कोरोनावायरस पर शोएब अख्तर का बड़ा बयान, कही ये बात

अख्तर ने इससे पहले, इस बीमारी के खिलाफ लोगों को जाति धर्म से ऊपर उठकर लोगों की मदद करने का अनुरोध किया था। अख्तर ने अपने यूटयूब चैनल पर एक वीडियो पोस्ट किया था, जिसमें उन्होंने लोगों से अनुरोध किया था कि वे एक वैश्विक कार्यबल के रूप में काम करें और प्रशासन द्वारा जारी दिशा निर्दशों का पालन करें।

Avatar Written by: April 1, 2020 7:03 pm

लाहौर। पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर का मानना है कि पूरा विश्व इस समय कोरोनावायरस की चपेट में है और इससे लोग कंगाल होने के कगार पर हैं। अख्तर ने बुधवार को ट्वीट करके कहा, “यह महामारी जितना लोगों के मारेगी नहीं उससे ज्यादा तो उन्हें कंगाल करके छोड़ेगी।”

shoaib akhtar on shewag

अख्तर ने इससे पहले, इस बीमारी के खिलाफ लोगों को जाति धर्म से ऊपर उठकर लोगों की मदद करने का अनुरोध किया था। अख्तर ने अपने यूटयूब चैनल पर एक वीडियो पोस्ट किया था, जिसमें उन्होंने लोगों से अनुरोध किया था कि वे एक वैश्विक कार्यबल के रूप में काम करें और प्रशासन द्वारा जारी दिशा निर्दशों का पालन करें।

अख्तर ने कहा था, “दुनिया के सभी प्रशंसकों से मेरा अनुरोध, कोरोनावायरस एक वैश्विक संकट है और हमें एक वैश्विक कार्यबल के रूप में सोचना है तथा धर्म से ऊपर उठकर इसका मुकाबला करना है। लॉकडाउन हो रहा है ताकि यह वायरस फैल न सके। अगर आप लोगों के साथ बैठक कर रहे हैं और उनसे मिलकर बातचीत कर रहे हैं तो इससे मदद नहीं मिलेगी।”

Shoaib Akhtar

उन्होंने कहा, “अगर आप इन चीजों को करते हैं तो कृपया दैनिक मजदूरों के बारे में भी सोचें। गोदामें खाली पड़े हैं। इस बात की क्या गारंटी है कि आप तीन महीने बाद जिंदा रहेंगे। दैनिक मजदूरों के बारे में सोचें, कैसे वे अपने परिवारों का गुजारा करेंगे। इन लोगों के बारे में सोचें। यह समय मानवता का है न कि हिंदू-मुस्लिम करने का। लोगों को एक दूसरे की मदद करना होगा।”

shoaib akhtar

पूर्व तेज गेंदबाज ने आगे कहा था, “अमीर लोग तो फिर भी गुजारा कर लेंगे, लेकिन गरीब कैसे गुजारा करेंगे। हम जानवरों जैसे रह रहे हैं जबकि हमें इंसान जैसा रहना है। लोगों की मदद करने की कोशिश करें। यह समय इंसान के रूप में एक साथ रहने का है।”