Amit Shah: ‘370 हटने से अब्दुल्ला परिवार को लगी मिर्ची’, जम्मू-कश्मीर में गरजे शाह, कहा- PM मोदी ने युवाओं के हाथ में पत्थर की जगह लैपटॉप थमाया

Amit Shah: शाह ने कहा कि पीएम मोदी की आमद के बाद पहाड़ी लोगों को आरक्षण मिला है। शाह ने आगे कहा कि केंद्र सरकार ने पहाड़ी लोगों को आरक्षण दिलाने के लिए अनुशंसा की थी। बता दें कि इस दौरान उपराज्यपाल मनोज सिन्हा और जितेंद्र सिंह तौमर भी मौजूद थे।

सचिन कुमार Written by: October 4, 2022 2:13 pm

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर विधानसभा चुनाव से पूर्व बीजेपी एक्शम मोड में आ चुकी है। इसी कड़ी में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह मंगलवार को तीन दिवसीय दौरे पर जम्मू-कश्मीर पहुंचे। जहां उन्होंने माता वैष्णो देवी मंदिर के दर्शन किए। दर्शन करने के उपरांत शाह ने स्थानीय लोगों से मुलाकात की। जिसके बाद राजौरी जनसभा को संबोधित करने पहुंचे। इस बीच उन्होंने जनसभा में आए पहाड़ी लोगों को कई बड़ी सौगात देने का ऐलान किया।

शाह ने कहा कि पीएम मोदी की आमद के बाद पहाड़ी लोगों को आरक्षण मिलने के मार्ग प्रशस्त हुआ है। शाह ने आगे कहा कि केंद्र सरकार ने पहाड़ी लोगों को आरक्षण दिलाने के लिए अनुशंसा की है। बता दें कि इस दौरान उपराज्यपाल मनोज सिन्हा और जितेंद्र सिंह तौमर भी मौजूद थे। उन्होंने भी माता वैष्णो देवी मंदिर के दर्शन किए। इस बीच शाह ने जनसभा में आए लोगों से पूछा कि जब से नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बने हैं, तब से क्या आप लोगों ने अखबारों में पत्थरबाजी की खबरों को बारे में पढ़ा है, तो जनसभा में मौजूद लोगों ने नहीं में जवाब दिया, जिसके बाद शाह ने कहा कि क्योंकि हमारी सरकार धारा ने 370 को हटाकर युवाओं के हाथ में बंदूक हटाकर लेपटॉप थमाया है।


मोदी सरकार ने युवाओं को रोजगार दिया है। उन्होंने आगे कहा कि जब केंद्र की मोदी सरकार ने धारा 370 को हटाया था, तो अब्दुल्ला परिवार को मिर्ची लग गई थी। विपक्षी दलों की नींद खराब हो गई थी। लेकिन, हमारी सरकार ने जम्मू-कश्मीर के हित को ध्यान में रखते हुए धारा 370 को हटाया।

शाह ने कहा कि पहले महज तीन ही परिवारों के पास सत्ता थी, लेकिन अब पीएम मोदी ने इस शैली को खत्म कर दिया है। शाह ने आगे कहा कि धारा 370 निरस्त किए जाने से पूर्व पर्यटक पहाड़ में जाने से गुरेज करते थे, लेकिन जब से पीएम मोदी ने धारा 370 को निरस्त किया है, तब से पर्यटकों की संख्या में इजाफा दर्ज किया गया है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, 1 करोड़ 60 लाख पर्यटक जम्मू-कश्मीर आते हैं। शाह ने आगे कहा कि हमारी सरकार आतंकियों से सख्ती से निपट रही है। इसके साथ ही अमित शाह ने पहाड़ी, गुर्जर और बकरवाल को आरक्षण देने का भी ऐलान किया है। माना जा रहा है कि शाह के इस ऐलान के बाद बीजेपी को आगामी चनावी दंगल में 10 सीटों पर फायदा पहुंच सकता है।

Latest