Connect with us

देश

Slammed: ‘भारत विभाजन में मुस्लिमों का हाथ नहीं’, ओवैसी के इस दावे पर भड़के यूजर्स, पूछा- फिर ये कौन लोग हैं?

आजादी की 75वीं सालगिरह देश मना रहा है, लेकिन कुछ नेता इसमें भी सियासत तलाश रहे हैं। इन्हीं में से एक नेता AIMIM के चीफ असदुद्दीन ओवैसी हैं। ओवैसी ने शनिवार को हैदराबाद में एक रैली को संबोधित किया। वहां वो भारत की आजादी के बारे में बोले, लेकिन इसमें भी हिंदू और मुसलमान का अपना पुराना फंडा ले आए।

Published

on

Owaisi

हैदराबाद। आजादी की 75वीं सालगिरह देश मना रहा है, लेकिन कुछ नेता इसमें भी सियासत तलाश रहे हैं। इन्हीं में से एक नेता AIMIM के चीफ असदुद्दीन ओवैसी हैं। ओवैसी ने शनिवार को हैदराबाद में एक रैली को संबोधित किया। वहां वो भारत की आजादी के बारे में बोले, लेकिन इसमें भी हिंदू और मुसलमान का अपना पुराना फंडा ले आए। ओवैसी ने रैली में दावा करते हुए कहा कि भारत के विभाजन के लिए मुसलमानों को जिम्मेदार बताया जाता है, लेकिन मुसलमान इस देश के विभाजन के जिम्मेदार नहीं हैं। अपने इस तर्क के समर्थन में ओवैसी ने कई उदाहरण भी दिए।

asaduddin owaisi

ओवैसी ने रैली में मौजूद अपने समर्थकों को बताया कि कांग्रेस में जब भारत के विभाजन का प्रस्ताव आया, तो उसे कोई मुसलमान नहीं, बल्कि गोविंद वल्लभ पंत ने पेश किया था। उन्होंने एक मुस्लिम नेता का नाम भी लिया, जिन्होंने इस प्रस्ताव का विरोध किया था। ऐसे ही ओवैसी आगे बढ़े और फिर एक किताब का नाम लेते हुए उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी पर परोक्ष निशाना भी साधा। बता दें कि असदुद्दीन ओवैसी की पूरी सियासत में हर वक्त हिंदू और मुसलमान का मुद्दा जरूर रहता है। ओवैसी चाहे हैदराबाद में जलसा करें, या बिहार-यूपी में। हर जगह वो मुसलमानों और हिंदुओं की बात जरूर करते हैं।

बहरहाल, देश के विभाजन पर ओवैसी के इस बयान से सोशल मीडिया यूजर्स एक बार फिर उनपर भड़क गए। अनिल कुमार शुक्ला ने लिखा, ‘बिल्कुल सही। जिन्ना सरयू पारी ब्राह्मण था, मुस्लिम लीग सिखों की पार्टी थी और अलग पाकिस्तान बनाने के लिए अवध, बिहार और बंगाल के राजपूतों ने वोट दिया था!! लगता है इस मौलाना के सिवा किसी को कुछ नहीं पता।’ वहीं, मनोज राय ने लिखा कि इनके जैसे धार्मिक आधार पर विभाजन की राजनीति करने वाले नेताओं को मीडिया वाले तरजीह देना बंद कर दें। जबकि, वीरेंद्र सिंह चौहान ने ओवैसी के बयान पर कहा, ‘अच्छा तो ये बताओ ये जो जुमे पर पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे हिंदुस्तान में लगाते हैं और आजादी के अमृत महोत्सव मे अपने घर पर पाकिस्तानी झंडा फहरा रहे हैं फिर ये लोग कौन हैं।’ यूजर्स ने और क्या कहा, ये आप ऊपर ट्वीट के रिप्लाई सेक्शन में जाकर पढ़ सकते हैं।

Advertisement
Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Advertisement